• search
बलरामपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पूर्व सपा विधायक आरिफ अनवर सहित 14 लोगों पर जालसाजी और धोखाधड़ी का आरोप, मुकदमा दर्ज

|

बलरामपुर। फर्रुखाबाद में सपा नेता व पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत के भूमाफिया घोषित होने के बाद बलरामपुर में उतरौला विधानसभा से समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी पर जिला प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरु कर दिया है। पूर्व विधायक के भाई-भतीजों और एक राजस्व कर्मी सहित 14 लोगों पर गंभीर धाराओं में सादुल्लानगर थाने में केस दर्ज किया गया है। पूर्व विधायक और उनके भाई-भतीजों पर अभिलेखों में हेरा-फेरी कर ग्राम समाज की करोड़ों रुपयों की जमीन पर कब्जा व अपने नाम कराने का आरोप है। इस मामले में अनिल श्रीवास्तव की तहरीर पर केस दर्ज किया गया है।

forgery and fraud case filed against ex sp mla and 13 other

क्या हैं आरोप

पुलिस को दी गई तहरीर में अनिल श्रीवास्तव ने आरोप लगाया है कि सादुल्लानगर के ग्राम प्रधान पद पर पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी के परिवार के सदस्य ही निर्वाचित होते आए है। आरोप है कि ग्रामसभा गूमा फातिमा जोत सादुल्लानगर की करोड़ों रुपयों की ग्राम समाज की जमीन को पहले तो इसी गांव के महबूब और भगौतीगंज डुमकी गांव के राम कुमार के नाम फर्जी तरीके से कूटरचित पत्रावली के सहारे फर्जी सन्दर्भ कराया गया। फिर उप संचालक चकबन्दी द्वारा फर्जी तरीके से अनुमोदन दिखाकर और संन्दर्भ के आधार पर आदेश पारित कराकर सरकारी अभिलेखों में ग्राम समाज की जमीन को महबूब और रामकुमार के नाम दर्ज करा दिया गया। फिर इसी जमीन को एक नुमाइशी बैनामे के तहत 23 मई 2001 को आरिफ अनवर हाशमी और निजामुद्दीन हाशमी के नाम से बैनामा करा लिया।

लेखपाल के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज

आरोप यह भी है कि पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी के परिवार के सदस्य ही ग्राम प्रधान पद पर थे और इन्होंने फर्जी तरीके से ग्रामसभा के प्रधान को पार्टी बनाकर और जानबूझकर पैरवी न करके ग्रामसभा के विरुद्ध आदेश कराकर फिर जमीन अपने व अपने परिवार के नाम करा लिया है। यही नहीं ग्राम सभा के बचत खाते की जमीन जैसे नवीनपर्ती, खलिहान और तालाब आदि की भूमि को भी इन लोगों ने कूटरचित तरीके से अपने व परिवार के नाम दर्ज करा लिया है। इस मामले में एक लेखपाल अकलीम के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि सभी लोगों ने साजिश करके सोचे समझे षड़यन्त्र के तहत जिला राजस्व अभिलेखागार के कर्मचारियों को अपने प्रलोभन में लेकर यह फ्राड कराया है और ग्राम सभा की पूरी भूमि को हड़प लिया है जो कि संज्ञेय अपराध की श्रेणी में आता है।

पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत भूमाफिया घोषित

बता दें, फर्रुखाबाद में फर्जी वसीयत के आधार पर वक्फ संपत्ति हड़पने के मामले में जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने सपा नेता पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत को भी भूमाफिया घोषित कर दिया है। जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह की ओर से उर्मिला राजपूत के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने के आदेश दिए गए हैं।

कौन हैं हाईकोर्ट से जमानत पाने वाले डॉ. कफील खान ? योगी सरकार से रहा है 36 का आंकड़ा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
forgery and fraud case filed against ex sp mla and 13 other
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X