• search
अलवर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Nikhil Dayma : 19 की उम्र में तिरंगे में लिपटकर लौटा बेटा निखिल दायमा, आखिरी सैल्यूट करने उमड़े लोग

|

अलवर। भारतीय सेना के 3 जाट रेजिमेंट के 19 वर्षीय निखिल दायमा दुश्मनों से लोहा लेते हुए वीरगति को प्राप्त हो गएा। राजस्थान के अलवर जिले में भिवाड़ी के सैदपुर में रविवार को उनका अंतिम संस्कार किया गया। निखिल देश में सबसे कम उम्र में शहीद होने वालों में से एक थे।

    Nikhil Dayma : 19 की उम्र में तिरंगे में लिपटकर लौटा बेटा निखिल दायमा

    Martyr Nikhil Dayma cremated iN Saidpur Alwar Rajasthan

    गांव सैदपुर में बहादुर लाल की अंतिम विदाई देने और अंतिम दर्शन के लिए जन सैलाब उमड़ा। लोग हाथों में तिरंगा लेकर उनकी शवयात्रा में शामिल हुए। उन्होंने निखिल दायमा अमर रहे के नारे लगाए। बता दें कि शुक्रवार को जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर के उल्लंघन के दौरान गोली लगने से निखिल दायमा शहीद हो गए थे। निखिल 2019 में सेना में भर्ती हुए थे। 13 जनवरी को छुटटी पूरे करके डयूटी पर लौटे थे। उन्हें शहादत से दो दिन पहले बेस कैंप भेजा गया था।

    पाकिस्तानी महिला ने हिंदुस्तान में बच्चे को जन्म दिया, नाम रखा-गंगा सिंह, लोगों ने मामा-मौसी बनकर दिए उपहार

    निखिल के दादा रिटायर्ड सूबेदार मेजर मुन्नी लाल का कहना है कि मैं तो देश के काम नही आ पाया लेकिन पोते ने परिवार का नाम रोशन किया है। पोते की शहादत पर सीना गर्व से चौड़ा हो गया है। शहीद को अंतिम विदाई देने सांसद बाबा बालक नाथ, विधायक संदीप यादव समेत कई जनप्रतिनिधि व अधिकारी भी पहुंचे।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Martyr Nikhil Dayma cremated iN Saidpur Alwar Rajasthan
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X