• search
इलाहाबाद / प्रयागराज न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

प्रयागराज: BJP के पूर्व मंत्री दीनानाथ भास्कर की गिरफ्तारी, कुर्की वारंट जारी

|
Google Oneindia News

प्रयागराज। भदोही के भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री दीनानाथ भास्कर की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट ने उनके खिलाफ गिरफ्तारी और कुर्की का वारंट जारी किया है। दरअसल, 12 मई 2019 को लोकसभा चुनाव के दौरान पीठासीन अधिकारी की पिटाई करने के मुकदमे में उपस्थित न होने पर स्पेशल कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। प्रकरण की सुनवाई नौ सितंबर को होगी।

non bailable warrant issued against former minister dinanath bhaskar

क्या है मामला
लोकसभा चुनाव के दौरान 12 मई 2019 को भदोही जिले के औराई विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 359 पर मतदान की प्रक्रिया चल रही थी। लसभड़ा मतदान केंद्र पर तैनात पठासीन अधिकारी राधेश्याम ने आरोप लगाया कि बीजेपी के औराई से विधायक दीनानाथ भास्कर बूथ के अंदर घुस आये और उनसे गाली गलौज के साथ मारपीट की। जिससे मतदान की प्रक्रिया भी प्रभावित हुई। इस दौरान होमगार्ड विनोद पांडेय ने बीच बचाव किया तो उनके साथ भी मारपीट की गयी और उन्हें भी चोटें आई थी। घटना को संज्ञान में लेते हुये डीएम भदोही ने विधायक व उनके समर्थकों के विरूद्ध कानूनी धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। हालांकि इस मुकदमें में तब नया मोड़ आ गया था जब पीठासीन अधिकारी ने किसी भी तरह की घटना से इंकार करते हुए शपथ पत्र दिया था और कहा था कि वह तो विधायक दीनानाथ को जानते तक नहीं हैं। हालांकि मुकदमा दर्ज होने के बाद इसमें चार्जशीट दाखिल हुई और विधायक पर आरोप पत्र के मुताबिक इसी घटना का जिक्र किया गया है। यह मुकदमा अब स्पेशल कोर्ट आया हुआ है। जिस पर सुनवाई के दौरान विधायक दीनानाथ के विरूद्ध कुर्की वारंट जारी किया गया है। इस मुकदमे की अगली सुनवाई 9 सितंबर को होगी। मुकदमे पर सुनवाई स्पेशल कोर्ट के जज पवन कुमार तिवारी कर रहे हैं।

कौन हैं दीनानाथ भास्कर
मौजूदा भाजपा विधायक दीनानाथ भास्कर बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे हैं और बसपा सरकार में मंत्री भी रहे। बाद में यह पार्टी छोड़कर सपा में चले गये और 2015 में इन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर ली। तब से यह बीजेपी में ही हैं और बीते विधान सभा चुनाव में औराई से बीजेपी के टिकट पर विधायक चुने गये हैं। भाष्कर पहली बार 1993 में बसपा के टिकट पर चुनाव जीतकर विधायक बने थे। इस दौरान वह स्वास्थ्य व ग्रामीण विकास राज्य मंत्री बने। 1996 में दीनानाथ से बसपा छोड़ दी और उफान पर रही समाजवादी पार्टी की साइकिल पर सवार हो गये। लेकिन, 2015 में उन्होंने दिल्ली में ऐलान किया कि वह बीजेपी ज्वाइन कर चुके हैं और बाद में अधिकारिक रूप से वह बीजेपी में शामिल हो गये।

    प्रयागराज - घर के बाहर सो रहे युवक को अज्ञात बदमाश ने उतरा मौत के घाट

    ये भी पढ़ें:- आगरा: पुलिस हिरासत में व्यापारी की मौत पर भड़के परिजन, लगाए गंभीर आरोपये भी पढ़ें:- आगरा: पुलिस हिरासत में व्यापारी की मौत पर भड़के परिजन, लगाए गंभीर आरोप

    English summary
    non bailable warrant issued against former minister dinanath bhaskar
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X