• search
इलाहाबाद / प्रयागराज न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

धरने पर बैठे छात्रों को मानाने में भावुक हुए इंस्पेक्टर, रोते हुए बोले-'उठ जाओ नहीं तो मै भी वर्दी उतार दूंगा'

Google Oneindia News

छात्रों द्वारा धरना देना उत्तर प्रदेश में एक आम बात है और पुलिस द्वारा उस धरने को खत्म करवाना भी। कई बार छात्र कॉलेज प्रशासन के खिलाफ फीस बढ़ोतरी को लेकर तो कभी उन्हें होने वाली असुविधाओं को लेकर धरने पर बैठ जाते हैं। लेकिन यूपी के प्रयागराज में कुछ छात्र सिविल लाइंस थाने में सोमवार की दोपहर धरने पर बैठ गए। वजह थी हिंदू छात्रावास के पास अपने साथ हुई मारपीट के एक आरोपी का हल्की धाराओं में चालान करना। मामला चर्चा का विषय तो तब बना जब इंस्पेक्टर मौके पर पहुंच कर धरना समाप्त करने को कहने लगे। छात्रों से धरना खत्म करने की अपील करते करते इंस्पेक्टर साहब भावुक हो गए और उनकी आंखों से आंसू निकलने लगे।

Inspector sahib got emotional in convincing the students sitting on dharna

इंस्पेक्टर छात्र नेताओं को मनाने में हुए भावुक
दरअसल, प्रयागराज के सिविल लाइंस में दो दिन पहले हिंदू छात्रावास के पास अपने साथ हुई मारपीट के एक आरोपी का हल्की धाराओं में चालान करने से नाराज छात्र नेता सत्यम कुशवाहा और आदर्श भदौरिया सिविल लाइंस थाने में सोमवार की दोपहर धरने पर बैठ गए। सिविल लाइंस इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह यादव दोनों छात्र नेताओं को पुलिस कार्रवाई का भरोसा दिला रहे थे और धरना समाप्त करने को कह रहे थे। दोनों छात्र नेता अर्धनग्न होकर वहीं थाने के बाहर धरने पर बैठ गए। आरोपियों पर जानलेवा हमले की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करने और गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। इतने में इंस्पेक्टर मौके पर पहुंचे और धरना समाप्त करने को कहने लगे। छात्र नेता आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े थे। इंस्पेक्टर ने कहा तुम लोग धरना समाप्त कर दो नहीं तो हम भी यहीं धरने पर बैठ जाएंगे। इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह यादव जब वर्दी उतारने लगे तो लोगों ने उन्हें रोका। इतने में उनकी आंखों से आंसू निकलने लगा तो छात्र नेता पसीज गए और चेतावनी देकर धरने से उठ गए।

Inspector sahib got emotional in convincing the students sitting on dharna

हमला करने वाले भाजपा के नेता
दो दिन पहले हिंदू हॉस्टल के पास कार से बाइक टकरा जाने के बाद कार सवार शुभम पांडेय, संदीप शुक्ला और भाजयुमो के जिला मंत्री शशांक तिवारी ने बाइक सवार सत्यम कुशवाहा और आदर्श भदौरिया को जमकर पीट दिया था। घायल छात्रों का आरोप है कि आरोपियों ने तमंचे की बट से उनके सिर पर गंभीर प्रहार किया और दहशत पैदा करने के उद्देश्य से हवाई फायरिंग भी की। हमला करने वाले भाजपा के नेता बताए जा रहे हैं। पुलिस दबाव में गंभीर धाराओं को खत्म कर हल्की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज किया गया है। छात्रों का कहना है कि हम पुलिस थाने न्याय के उम्मीद से आए थे। पर यहां तो सत्ता पक्ष को पुलिस बचा रही है। हम तब तक आमरण अनशन पर बैठेंगे तब तक हमको न्याय नहीं मिल जाता।

Prayagraj Hospital का रजिस्ट्रेशन रद्द, प्लेटलेट्स के बदले बेचा 'जूस', डेंगू मरीज की हुई थी मौतPrayagraj Hospital का रजिस्ट्रेशन रद्द, प्लेटलेट्स के बदले बेचा 'जूस', डेंगू मरीज की हुई थी मौत

Comments
English summary
Inspector sahib got emotional in convincing the students sitting on dharna
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X