• search
अलीगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अलीगढ़: 10 दिन से भूखा था ये परिवार, नहीं नसीब हुई एक भी रोटी, शरीर बना 'कंकाल'

|
Google Oneindia News

अलीगढ़, 16 जून: यूपी के अलीगढ़ में दिल को झकझोर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला और उसके पांच बच्चों को दो महीने से ठीक से खाना नसीब नहीं हुआ। कभी आधी रोटी, कभी दो कौर तो कभी भूखा ही सोना पड़ा। हालत ये हो गई कि पिछले 10 दिनों से परिवार के सदस्यों ने रोटी तक नहीं खाई। इस वजह से सभी का शरीर कंकाल जैसा दिखने लगा। तबीयत बिगड़ने पर सभी को मलखान सिंह जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामला सामने आने के बाद एनजीओ ने भी कुछ मदद पहुंचाई है।

पति की मौत के बाद पत्नी ने शुरू किया काम

पति की मौत के बाद पत्नी ने शुरू किया काम

अलीगढ़ के थाना सासनी गेट इलाके के आगरा रोड स्थित मंदिर नगला में 40 वर्षीय गुड्डी नाम की महिला अपने पांच बच्चों अजय (20), विजय (15), बेटी अनुराधा (13), टीटू (10) व सबसे छोटा बेटा सुंदरम (5) के साथ रहती है। गुड्डी ने बताया कि उसके पति विनोद की पिछले साल लॉकडाउन से दो दिन पहले ही गंभीर बीमारी की वजह से मृत्यु हो गई थी। इसके बाद घर चलाने के लिए उसने एक फैक्ट्री में 4 हजार रुपए महीने पर काम करना शुरू किया। लेकिन लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री कुछ समय बाद पूरी तरह बंद हो गई। इसके बाद से गुड्डी को कहीं काम नहीं मिल सका।

खत्म हुआ राशन, खाने को पड़ गए लाले

खत्म हुआ राशन, खाने को पड़ गए लाले

घर में जो थोड़ा बहुत राशन था वह भी धीरे-धीरे खत्म हो गया। गुड्डी और उसका परिवार लोगों द्वारा दिए गए खाने के पैकेट पर निर्भर हो गया। पिछले लॉकडाउन खुलने के बाद बड़े बेटे अजय ने मजदूरी शुरू कर दी। जिस दिन काम मिल जाता था तो उसी दिन घर का राशन पानी ले आता था। लेकिन अक्सर परिवार को भूखा पेट ही सोना पड़ता था। इस बीच बेटी अनुराधा की तबीयत खराब रहने लगी। धीरे-धीरे परिवार के सभी सदस्य बीमारी की चपेट में आने शुरू हो गए। इस बीच कोरोना की दूसरी लहर आ गई और फिर लॉकडाउन लग गया। अजय का भी काम छूट गया। गुड्डी ने बताया कि पिछले 2 महीने से भरपेट खाना नसीब नहीं हो सका है।

तीन बच्चों की हालत गंभीर

तीन बच्चों की हालत गंभीर

गुड्डी ने बताया कि जब उसकी शादीशुदा बेटी को इसकी जानकारी हुई तो उसके पति ने पूरे परिवार को मलखान सिंह जिला अस्पताल में भर्ती कराया। हालांकि बेटी दामाद की भी माली हालात ठीक नहीं है। अस्पताल की इमरजेंसी इंचार्ज डॉ. अमित सिंह सभी का इलाज कर रहे हैं। डॉक्टर अमित ने बताया कि परिवार के सभी सदस्यों की हालत ठीक नहीं है, जिनमें से अनुराधा समेत 3 बच्चों की हालत गंभीर है। हालांकि, जल्दी ही उन्हें रिकवर कर लिया जाएगा।

गंगा नदी में मिली 21 दिन की 'गंगा' को मिला नया जीवन, यूपी सरकार करेगी पालन पोषण, नाविक को सरकारी आवासगंगा नदी में मिली 21 दिन की 'गंगा' को मिला नया जीवन, यूपी सरकार करेगी पालन पोषण, नाविक को सरकारी आवास

English summary
mother and her five children sick for not getting food from last 10 days in aligarh
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X