• search
अहमदाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना का कहर: कब्रिस्तानों में शवों के ढेर, हर 2 घंटे में श्मशान लाई जा रहीं 3 लाशें, रात में भी हो रही अंत्येष्टि

|

अहमदाबाद। कोरोना महामारी के संक्रमण के इन दिनों अहमदाबाद में रोज इतनी लाशें श्मशानों और कब्रिस्तानों पर पहुंच रही हैं कि अंत्येष्टि प्रक्रिया थम नहीं रही। श्मशानों में जहां 25-30 लाशें लाई जा रही हैं, वहीं कब्रिस्तानों में भी मरे हुए लोगों के शरीरों का ढेर लग रहा है। हर 2 घंटे में औसतन 3 लाशें श्मशान लाई जा रही हैं। दाह संस्कार चौबीसों घंटे हो रहा है। यहां तक कि, शव-वाहनों तक 4-4 घंटे की वेटिंग हो रही है। संवाददाता ने बताया कि, शहर के कई स्थानों पर अंतिम संस्कार रात में भी जारी रहता है। जबकि हिंदू मजहब में ये मान्यता रही हैं कि लाशें रात में नहीं फूंकी जातीं। मगर, इन दिनों यह साफ देखा जा सकता है।

pile Of Corpses In The Crematorium and kabristan Of Ahmedabad, 25-30 Bodies Funeral daily in covid period

कोरोना से मरने वालों के बारे में शहर के श्मशान एवं कब्रिस्तानों से यह बात सामने आई है कि, आधिकारिक तौर पर कोरोना से दिन में 13-14 मौतें ही दिखाई जाती हैं, जबकि लाशें तो 25-30 पहुंच रही हैं। यहां के वडाज श्मशान में तो लाशों के ढेर लग रहे हैं और हर दो घंटे में तीन शव लाए जा रहे हैं। कब्रिस्तानों में पहुंचने वाले लोगों का आंकड़ा भी काफी ज्यादा है। वहीं, शवदाह गृह में एक रिश्तेदार के शव को ले जाने के लिए करीबन चार घंटे तक इंतजार करना पड़ रहा है।

    Coronavirus In India : देश के दूसरे Sero Survey की रिपोर्ट में चौकाने वाला खुलासा | वनइंडिया हिंदी

    pile Of Corpses In The Crematorium and kabristan Of Ahmedabad, 25-30 Bodies Funeral daily in covid period

    दिवाली त्योहार के बाद से अहमदाबाद में हालत ज्यादा बिगड़े बताए जा रहे हैं और अस्पताल बेड से बाहर चल रहे हैं। शहर में हर दिन, सरकारी आंकड़ों के अनुसार, लगभग 350 मामले आ रहे हैं और 13-14 मरीज मर रहे हैं। लेकिन हकीकत में पूरे दिन एम्बुलेंस सायरन सुना जा सकता है और कब्रिस्तान व श्मशानों में लाशों के ढेर लगाए जाते हैं। जिसका सबसे बड़ा उदाहरण वडूज कब्रिस्तान है। जहां एक दिन में कोरोना से मरने वाले औसतन 8-9 लोगों को दफनाया जा रहा है।

    pile Of Corpses In The Crematorium and kabristan Of Ahmedabad, 25-30 Bodies Funeral daily in covid period

    गुजरात: अहमदाबाद-सूरत दोनों शहरों में अब कोरोना के 40-40 हजार से ज्यादा मामले, जानिए यहां सभी जिलों का हाल

    वडाज कब्रिस्तान में तीन शवों की जांच में पता चला है कि श्मशान में दो सीएनजी भट्टियां हैं, जिसमें कोरोना के मरीजों की लाशों का हर दो घंटे में अंतिम संस्कार किया जाता है। जबकि दिन के दौरान करीब 30 लाशें वडाज कब्रिस्तान में पहुंचती हैं, जिनमें से 8-9 सिर्फ कोरोना के मरीज होते हैं। मृतक के परिवार के चार सदस्य मंगलवार को 3 डेडबॉडी के अंतिम संस्कार के लिए पीपीई किट पहनकर आए थे। उन्होंने एक रिश्तेदार के शव को गुमनामी में बांध दिया और फिर उनके परिवार के अन्य सदस्यों को अंतिम संस्कार करते हुए एक वीडियो कॉल किया।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    pile Of Corpses In The Crematorium and kabristan Of Ahmedabad, 25-30 Bodies Funeral daily in covid period
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X