• search
अहमदाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बढ़ी तेल की कीमतों के सवाल पर निर्मला सीतारमण बोलीं-यह एक धर्मसंकट है

|

अहमदाबाद। तेल की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्षी दल सरकार पर हमलावर है। कई शहरों में पेट्रोल की कीमत 100 रुपए के करीब पहुंच गई है। तेल की बढ़ती कीमतों के बाद लोग सरकार से लगातार सवाल कर रहे हैं। ऐसे ही सवालों का सामना वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को अहमबाद के एक कार्यक्रम में करना पड़ा है। लेकिन निर्मला सीतारमण इस सवाल का गोलमोल जवाब देते हुईं दिखीं।

Nirmala Sitharaman on fuel prices, says I wont be able to say when it is a dharam sankat
    Petrol Price Hike : तेल की बढ़ी कीमतों पर Nirmala Sitharaman ने कहा,ये एक धर्मसंकट | वनइंडिया हिंदी

    अहमदाबाद में एक कॉन्फ्रेंस के दौरान जब उनसे पूछा गया कि तेल की बढ़ती कीमतों पर सरकार लगाम कब लगाएगी? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ''कब होगा... इसके बारे में मैं कह नहीं सकती। अभी इस पर कुछ भी कहना धर्म संकट की तरह है। वहीं वित्त मंत्री सीतारमण ने बजट को लेकर कहा, यह नये दशक का बजट है। यह बजट साफ तौर पर कहता है...हम निजी क्षेत्र पर भरोसा करते हैं और देश के विकास में भागदारी के लिये आपका स्वागत है।

    वहीं तेल की कीमतों पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि तेल उत्पादक देशों द्वारा कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण देश में पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स महंगे हो रहे हैं। अपने देश के हित में अधिक लाभ कमाने के लिए, कच्चे तेल की आपूर्ति करने वाले देश कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल की आपूर्ति करने वाले देशों से कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी न करने का अनुरोध किया गया है क्योंकि इसका प्रभाव सीधे उपभोक्ता पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि उनको अपने देश के हित में बढ़ोतरी कर रहे हैं।

    देश के स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में बात करते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा कि, भारत जैसे देश में ये संभव नहीं है लेकिनहमें हेल्थ सेक्टर के बुनियादी ढांचे में निवेश करना होगा। यह बजट ना केवल अधिक एम्स जैसे अस्पतालों पर बल्कि गैर-एम्स जैसे लोगों पर भी केंद्रित था। सुपर-स्पेशलिटी के अलावा, आपको प्राथमिक / तृतीयक हेल्थकेयर केंद्रों की भी आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इस बजट में हमने साफ किया है कि सरकार क्या कर सकती है या किस हद तक कर सकती है...इसीलिए यह बजट भारतीय अर्थव्यवस्था को एक दिशात्मक बदलाव देता है।

    शिवसेना ने सामना में लिखा- केंद्र सरकार चीनी कंपनियों के लिए रेड कार्पेट बिछा रही

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Nirmala Sitharaman on fuel prices, says I won't be able to say when it is a dharam sankat
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X