• search
अहमदाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

'दुआओं में याद रखना', पति से प्रताड़ित महिला ने वीडियो में सुनाई व्यथा, फिर साबरमती नदी में कूदकर जान दी

|

अहमदाबाद। गुजरात के अहमदाबाद जिले में एक शादीशुदा महिला ने साबरमती में कूदकर जान दे दी। वह अपने पति से खफा थी। मरने से पहले उसने अपना एक इमोशनल वीडियो बनाया। वीडियो में उसने परिवार के लिए मैसेज दिया। जीवन के अंतिम क्षणों में भी मुस्कराते हुए उसने अपनी व्यथा सुनाई। पति के बारे में भी बताया। वह 23 साल की थी। वीडियो में वह कहते दिखी- "ऐ प्यारी सी नदी, प्रे करते हैं कि मुझे अपने में समा ले।" उसने कहा- "दुआ में याद रखना"। इसके बाद उसने ब्रिज से साबरमती नदी में छलांग लगा दी।

    'दुआओं में याद रखना', पति से प्रताड़ित महिला ने वीडियो में सुनाई व्यथा
    महिला ने साबरमती में कूदकर दी जान

    महिला ने साबरमती में कूदकर दी जान

    वीडियो में महिला ने अपनी आत्महत्या के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया। हालांकि, उसके परिवार की ओर से पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है। सूचना मिलने पर सूचना एवं फायर ब्रिगेड की टीमें महिला को नदी से निकालने पहुंचीं। कुछ समय बाद नदी से महिला की लाश मिल गई। मृतका का नाम आयशा है। यह उसने वीडियो में खुद ही बताया। उसने कहा कि, 'मैं सुकून से जाना चाहती हूं।'

    वीडियो में अंतिम क्षणों में कहीं ये बातें

    वीडियो में अंतिम क्षणों में कहीं ये बातें

    आयशा ने जो वीडियो रिकॉर्ड किया। उसमें वह बोली-‘हैलो, अस्सलाम अलेकुम, मेरा नाम आयशा आरिफ खान... और मैं जो कुछ भी करने जा रही हूं, अपनी मर्जी से करने जा रही हूं। इसमें किसी का दबाव नहीं है, अब बस क्या कहें? ये समझ लीजिए कि खुदा की दी जिंदगी इतनी ही थी और मुझे इतनी जिंदगी बहुत सुकून वाली मिली। और डैड, कब तक लड़ोगे? केस विड्रॉल कर लीजिए।' उसने आगे कहा, ‘आयशा लड़ाइयों के लिए नहीं बनी है। और आरिफ से तो प्यार करते हैं, उसे परेशान थोड़ी न करेंगे। अगर उसे आजादी चाहिए तो ठीक है वो आजाद रहे। चलो अपनी जिंदगी तो यहीं तक है।''

    'मुझे दुआ में याद रखना'

    'मुझे दुआ में याद रखना'

    वीडियो में कुछ गुजराती शब्द भी सुनाई दिए। आयशा ने कहा, ''मैं खुश हूं कि अल्लाह से मिलूंगी और उनसे कहूंगी कि मेरे से गलती कहां रह गई? मां-बाप बहुत अच्छे मिले, दोस्त बहुत अच्छे मिले, लेकिन कहीं कोई कमी मेरे से ही रह गई। अल्लाह से दुआ करती हूं कि दोबारा इंसानों की शक्ल न दिखाए।' उसने कहा- 'सिर्फ हवाओं की तरह बहना चाहती हूं। और मुझे जिसको जो बताना था, बता चुकी हूं। थैंक्यू, मुझे दुआओं में याद रखना। पता नहीं, जन्नत मिले न मिले। चलो अलविदा।'

    कौन हैं साइमा सैयद जो बन गईं देश की पहली महिला वन स्टार राइडर

    बेटी के पिता ने बताईं शौहर की करतूतें

    बेटी के पिता ने बताईं शौहर की करतूतें

    पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है कि, आयशा की साल 2018 में शादी हुई थी। उसके पिता अहमदाबाद में ही रहने वाले हैं। उनका नाम लियाकत अली है और वे पेशे से टेलर हैं। उनका कहना है कि, ‘2018 में बेटी का निकाह जालौर (राजस्थान) में रहने वाले आरिफ खान से हुआ था, लेकिन निकाह के बाद से ही ससुराल वाले उसे दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे। बात यहां तक पहुंच गई कि, दहेज मांगते हुए ही आरिफ आयशा को मायके छोड़ गया था।' बाद में कुछ लोगों ने समझाया तो फिर अपने साथ ले गया। उसके बाद 2019 में फिर से ऐसा किया। उसके घरवाले हमसे डेढ़ लाख रुपए मांग रहे थे। हमने किसी तरह पैसों का इंतजाम कर उन्हें दे भी दिया था। मगर, वो बेटी को प्रताड़ित करते रहे। आखिर में बेटी ने इस तरह सुसाइड किया।'

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    ‘Dua me yaad rakhna': In gujarat, a woman films video with smile on face, ends her life in Sabarmati river, ahmedabad
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X