• search
आगरा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

'रोटी वाली अम्मा' को मिला पीएम स्वनिधि योजना से लोन, बोलीं- जब तक हाथ-पैर चलेंगे करूंगी सेवा

|

आगरा। आगरा में सेंट-जोंस कॉलेज के पास एमजी रोड के फुटपाथ पर रोटी वाली अम्मा का वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत 10 हजार रुपए दिए गए हैं। डूडा के कर्मचारी रोटी वाली अम्मा के पास लैपटॉप और अन्य कागजात लेकर पहुंचे। हाथों-हाथ रजिस्ट्रेशन कराने के बाद रोटी वाली अम्मा के बैंक खाते में महज 6 घंटे के अंदर 10 हजार रुपए भेज दिए गए। सरकारी सहायता मिलने के बाद रोटी वाली अम्मा काफी खुश हैं। उन्होंने फुटपाथ पर ही रजिस्ट्रेशन और पैसे देने वाले कर्मचारियों को दुआ दी, 'भगवान तुम्हें हमेशा खुश रखे'। अम्मा ने कहा कि जब तक हाथ पैर चलेंगे वे काम करती रहेंगीं।

20 रुपये में लोगों को भरपेट भोजन कराती हैं अम्मा

20 रुपये में लोगों को भरपेट भोजन कराती हैं अम्मा

बता दें, 80 साल की अम्मा भगवान देवी सेंट जोंस के पास सड़क किनारे रोटी बनाती हैं। 20 रुपये में लोगों को भरपेट भोजन कराती हैं, लेकिन कोरोना काल में आमदनी बहुत कम रह गई है। भगवान देवी के पति की मृत्यु हो चुकी है। इसके बाद बेटों ने उन्हें घर से निकाल दिया, लेकिन भगवान देवी ने हार नहीं मानी। 80 साल की उम्र में भी वह आत्मनिर्भरता की मिसाल पेश कर रही हैं।

    Agra: 'Roti wali Amma' की बढ़ी परेशानी, कोरोना काल में बिक्री हुई बंद । Bhagvan Devi। वनइंडिया हिंदी
    'रोटी वाली अम्मा' कहते हैं लोग

    'रोटी वाली अम्मा' कहते हैं लोग

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना को 26 अक्टूबर को लॉन्च करेंगे। तब वह आगरा, लखनऊ और वाराणसी के लाभार्थियों से बात करेंगे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इसमें आगरा, लखनऊ और वाराणसी की दो-दो महिलाएं शामिल होंगी जो स्वनिधि योजना की लाभार्थी हैं। सेंट जोंस के पास भगवान देवी पेड़ के नीचे रोटी और सब्जी बनाकर बेचती हैं। उनके पास ठेले वाले, रिक्शा वाले और मजदूर पेट भरने के लिए आते हैं। आसपास के लोग उन्हें रोटी वाली अम्मा कहते हैं।

    15 साल से भर रहीं लोगों का पेट

    15 साल से भर रहीं लोगों का पेट

    रोटी वाली अम्मा 15 साल से लोगों का पेट भर रही हैं। अगर उनके पास कोई गरीब इंसान आता है तो वह उसे बगैर पैसे लिए भी रोटी खिला देती हैं। मजदूर सेंट जोंस पर आकर पूछते हैं कि रोटी वाली अम्मा कहां मिलेंगी, नाम सुनते ही लोग उनका पता बता देते हैं। भगवान देवी कहती हैं कि लॉकडाउन के दौरान बहुत परेशानी हुई। अब धीरे-धीरे लोगों का आना शुरू हुआ है, लेकिन संख्या बहुत कम है। पहले रोज 200 से 400 रुपए तक कमा लेती थीं, लेकिन अब 100 भी मुश्किल से बचते हैं। लेकिन उम्मीद है कि भगवान उन्हें भूखा नहीं रखेगा। रोटी वाली अम्मा का वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें मौके पर जाकर स्वनिधि योजना में पंजीकृत किया और उनके खाते में पैसा भी पहुंचा दिया है।

    रोटी वाली अम्मा: 80 साल की भगवान देवी को है मदद की जरूरत, 20 रुपए में खिलाती हैं स्वादिष्ट खाना

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    agra roti wali amma gets loan under pm svanidhi yojana
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X