• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दुर्गा के मामले में बोले रामदेव, बस...बस अब रहने दो यार!

|

नयी दिल्‍ली (ब्‍यूरो)। ब्‍लैक मनी देश में वापस लाने और भ्रष्‍टाचार के खिलाफ देशव्‍यापी अलख जगाने का दावा करने वाले योगगुरू बाबा रामदेव आईएएस दुर्गा शक्ति नागपाल के निलंबन के संबंध में कुछ भी कहने से कन्‍नी काट रहे हैं। हर मामले में अपनी बेबाक राय रखने वाले बाबा रामदेव से मीडिया ने जब इस संबंध में प्रतिक्रिया जाननी चाही तो उन्‍होंने सिर्फ इतना कहा कि दुर्गा शक्ति नागपाल के साथ नाइंसाफी हुई है और उसका निलंबन वापस होना चाहिए। इस संबंध में बाबा रामदेव कुछ और न कहने की बात कहते हुए वहां से चले गये।

मीडिया से बातचीत के दौरान बाबा रामदेव ने कहा कि दुर्गा शक्ति नागपाल के साथ नाइंसाफी हुई है और ये नाइंसाफी सभी सरकारें और सभी राजनीतिक दल करते हैं। बाबा रामदेव के इस तरह के बयान से ये साफ हो गया है कि वो इस मामले को तूल देने की बजाय इसके सामान्‍यीकरण पर ज्‍यादा जोर दे रहे हैं। मीडिया ने जब बाबा रामदेव से पूछा कि क्‍या दुर्गा का सस्‍पेंशन वापस होना चाहिए? तो इसपे बाबा रामदेव की बोलती बंद हो गयी। बगले झांकते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि बस...बस, मुझे जितना बोलना था बोल दिया अब रहने भी दो यार।

Baba Ramdev

हर मामले पर कांग्रेस और गांधी परिवार पर हमला बोलने वाले बाबा रामदेव ने इस मुद्दे पर सोनिया गांधी को जरूर लताड़ा। उन्‍होंने कहा कि सोनिया गांधी ने दुर्गा शक्ति नागपाल के मामले में चिट्ठी तो लिख दी मगर अशोक खेमका के मामले में शांत क्‍यों थी। उल्‍लेखनीय है कि बाबा रामदेव सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के खासा करीबी माने जाते हैं। जब अखिलेश यादव ने यूपी के मुख्‍यमंत्री का पद संभाला था तो बाबा रामदेव खुद सपा मुख्‍यालय पहुंचकर उन्‍हें आर्शिवाद दिया था। इतना ही नहीं बाबा रामदेव ने मुलायम सिंह से भी कहा था कि वे राष्ट्रीय राजनीति में अपना कद बढ़ाएं।

English summary
Yog Guru Baba Ramdev supports IAS officer Durga Shakti Nagpal and slams Congress for transferring IPS Ashok Khemka.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X