• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पोप ने मुस्लिम कैदियों के पैर धोये फिर चूमे

By Ajay Mohan
|
Google Oneindia News

Pope washes feet of young detainees in ritual
रोम। गुड फ्राइडे के ठीक एक दिन पहले ईसाई धर्म गुरु पोप फ्रांसिस ने रोम में एक सुधार गृह में बंद कैदियों के पैर धाये, पोछे और फिर चूमे। यह नजारा आंखों में आसूं ला देने वाला था, जब वे 'मास ऑफ द लॉर्ड्स सुपर' के लिए रोम के कैसल डेल मारमो सुधार गृह पहुंचे। कैसल डेल मारमो में 46 किशोर कैदी हैं, जिनमें से 11 महिलाएं हैं।

उन्होंने कैदियों के साथ भोजन ग्रहण किया और 12 किशोर कैदियों के पांव धुले। रोम के सैकड़ों निवासी उनके सुधार गृह पहुंचने का इंतजार कर रहे थे, जहां लोगों ने 'लांग लाइव द पोप' के नारे लगाए। इससे पहले पोप आम तौर पर मध्य रोम के सेंट जॉन लातेरान के बैसिलिका में 'मास ऑफ द लास्ट सुपर' के लिए जाते थे।

पोप फ्रांसिस ने रोम के पादरी कार्डिनल अगॉस्टिनो कालिनी, सुधार गृह के पादरी गाएटेनो ग्रेको, वेटिकन के नंबर 3 एंगलो बेकियू तथा अपने निजी सचिव अल्फ्रेड शुआरेब के साथ प्रार्थनासभा में हिस्सा लिया। प्रभु यीशु की राह पर चलते हुए फ्रांसिस ने 12 किशोर कैदियों के पांव धुले, जिनमें से दो महिलाएं भी थीं। इनमें से एक मुस्लिम थी।

असल में मुस्लिम महिला के पैर धोना ही चर्चा का सबब बन गया। यही कारण है कि यह खबर दुनिया भर के टीवी चैनलों, समाचार पत्रों व वेबसाइटों पर प्रसारित हुई। वैसे पोप का यह कदम मुस्लिम और ईसाईयों की दूरियों को कम करने में सहायक साबित हो सकता है।

English summary
Pope Francis washed the feet of a dozen inmates at a juvenile detention center in a Holy Thursday ritual that he celebrated in Rome.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X