• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नेपाल के रास्ते घुसपैठ की आशंका बढ़ी

|

Pakistani Intruders are waiting for right time to come india from nepal
नयी दिल्ली। आतंकी लियाकत की गिरफ्तारी के बाद मचे बवाल के बीच खुफिया विभाग को सूचना मिली है कि नेपाल के रास्ते कई कश्मीरी और पाकिस्तानी देश में घुसपैठ की फिराक में हैं। एसएसबी व अन्य खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गई हैं। जम्मू-कश्मीर सरकार ने पुनर्वास योजना के तहत विभिन्न हालातों में आतंकी गतिविधियों में फंसकर भी पाकिस्तान चले गए कश्मीरी मूल के लोगों को वापस आने की अपील की थी। इसके बाद से हाल ही पाकिस्तान से आने वालों की संख्या बढ़ गई है। कश्मीर जाने के लिए ऐसे लोग पाकिस्तान से काठमांडू आते हैं और भारत-नेपाल की सौनौली सीमा से भारत में प्रवेश करते हैं। सीमा पर तैनात एसएसबी शक के आधार पर उन्हें अपनी हिरासत में लेकर पूछताछ करती है और संदेह होने पर गृह मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद उन्हें अपने कब्जे में लेकर कश्मीर पुलिस को सौंप देती रही है।

20 मार्च को दिल्ली पुलिस ने लियाकत अली शाह नाम के आतंकी को गिरफ्तार किया था। वहीं सीमा पर तैनात एसएसबी की प्रथम वाहिनी के कमांडेंट केएस बनकोटी ने अपने बयान में स्वीकार किया कि एसएसबी ने 12 लोगों को 18 मार्च को ही संदेह के आधार पर पकड़ा था और गृह मंत्रालय के निर्देश पर उससे पूछताछ के बाद दिल्ली ले जाकर सौंप दिया था।

फिलहाल सीमा पर नेपाल क्षेत्र में स्थित धार्मिक स्थानों पर उनके डेरा डालने की सूचना है। वे सोनौली सीमा से सामान्य ढंग से भारत में प्रवेश करने से बच रहे हैं। जाहिर है अब वे कोई दूसरा रास्ता अपनाएंगे। यह तरीका घुसपैठ का भी हो सकता है। भारत-नेपाल की लंबी खुली सीमा उनकी राह आसान करेगी और अगर ऐसा हुआ तो भारत के अमन-चैन में खलल डालने की कोशिश में लगे देशद्रोही तत्वों के मंसूबों को भी बल मिलेगा।

English summary
Pakistani Intruders are waiting for right time to come India from Nepal. IB has perfect information about this.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X