• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गणित को आसान बनाने के लिए 10 शहरों की यात्रा

By Belal Jafri
|

maths
कोलकाता। गणित विषय के बारे में सुझाव देने के लिए पंजाब के एक सेवानिवृत प्रोफेसर देश के दस शहरों के दौरे पर हैं। इस विषय को मुश्किल समझा जाता है जिसे छात्रों के बीच रोचक बनाने के लिए प्रोफेसर ऐसा कर रहे हैं। विभिन्न विश्वविद्यालय और कानपुर एवं भोपाल के संस्थाओं के छात्रों और शिक्षकों के साथ चर्चा करने के बाद 70 वर्षीय मदनलाल बलदेवराज घई अब 50 दिन की यात्रा पर कोलकाता में हैं।

घई ने बताया कि दोषपूर्ण शिक्षण के तरीके और छात्रों द्वारा गलत तीरका अपनाये जाने के कारण गणित अब कठिन विषयों में से एक बन कर रह गया है। जहां कहीं भी मैं गया हूं, मैने लोगों को बताया है कि कैसे विषय को समझना आसान है। सभी विज्ञान का आधार गणित छात्रों के बीच जटिल गणना के कारण मुश्किल रूप में देखा जाता है।

एक स्थानीय गैर सरकारी संगठन एनजीओ चलाने वाले और धार्मिक पुस्तक लिखने वाले लेखक गणितज्ञ ने एक जून से छात्रों के वास्ते महत्वपूर्ण विषय को सरल, आसान और व्यवहारिक बनाने के लिए यात्रा का शुभारंभ किया है।कोलकाता के अलावा घई विशाखापतनम, रायपुर, सूरत, जयपुर, दिल्ली नोएडा और कुरूक्षेत्र भी जाएंगे ।

पटियाला में पंजाब विश्वविद्यालय से अब इस विषय में पीएचडी कर रहे घई कोलकाता में कुछ स्कूलों और कोलकाता विश्वविद्यालय के गणित विभाग में अपनी प्रस्तुति देंगे। जीवन भर गणित के विकास के लिए प्रतिबद्ध रहने वाले घई ने सेवानिवृत होने से पहले पटियाला में पीएमएन कॉलेज के गणित विभाग प्रमुख के तौर पर 41 सालों तक अपनी सेवा दी हैं।

वर्ष 2010 में घई ने वैदिक गणित की महत्ता को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए देश भर का दौरा किया था। महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुज की 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य में उन्हें श्रद्धांजली देने के लिए केन्द्र सरकार ने 2012 को राष्ट्रीय गणितीय वर्ष के रूप में मनाने की घोषणा की है। इस विषय को लेकर छात्रों के बीच सक्रिय रहने वाले घई ने शिक्षाविदें को सलाह दी है कि व्यवहारिक गणित को पाठय्क्रम में शामिल किया जाना चाहिए।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Giving suggestions as to how the subject of mathematics, perceived as tough, can be made fun for students, a retired professor from Punjab is on a 10-city tour of India. After discussing the issue with students and teachers in various universities and institutes of Kanpur and Bhopal, 70-year-old Madanlal Baldevraj Ghai is now in the Kolkata leg of his 50-day tour.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more