• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सरकार ने एफडीआई को डाला ठंडे बस्‍ते में

|

Finance Minister Pranab Mukherjee
दिल्‍ली। विरोधी पार्टियों, घटक दलों और व्‍यापारियों का कड़ा विरोध झेल रही यूपीए सरकार की प्रमुख पार्टी कांग्रेस पार्टी ने किराना स्‍टोर में विदेशी निवेश के प्रस्‍ताव वाले बिल को ठंडे बस्‍ते में डालने का फैसला किया है। सरकार इसकी घोषणा 7 दिसंबर को संसद की कार्रवाई के दौरान इसकी घोषणा कर सकती है। वित्‍तमंत्री प्रणव मुखर्जी ने सोमवार को इस बारे में मुख्‍य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी और विपक्ष में लोकसभा की नेता सुषमा स्‍वराज से फोन पर बात की। इस दौरान उन्‍होंने उनसे एफडीआई को फिलहाल के लिए टालने की बात कही।

किराना स्‍टोर में विदेशी निवेश के मामले पर कांग्रेस ने विरोधी पार्टियों को मनाने की कोशिश की। विरोधी पार्टियों ने इस मामले में अपनी हामी नहीं भरी। इसके विरोध में विरोधी पार्टियों ने संसद की कार्रवाई एक हफ्ते तक नहीं चलने दी। इस मामले में सरकार ने जब प्रमुख घटक दल तृणमूल कांग्रेस और डीएमके से बात की तो वे भी इस पर राजी नहीं हुए। जिस वजह से इस मामले में कांग्रेस अकेली पड़ गई। इतना ही नहीं अगर इस बिल पर संसद में प्रस्‍ताव लाया जाता तो सरकार के गिरने तक की नौबत आ सकती थी। संसद में ज्‍यादा सांसद इस बिल के विरोध में हैं।

एफडीआई पर विरोधी पार्टियों सहित अपने घटक दलों को मनाने के तमाम हथकंडे अपना चुकी कांग्रेस पार्टी अब मजबूरी में इसे वापस ले रही है। इस मामले में कांग्रेस पार्टी को किसी का भी साथ नहीं मिला। यहां तक की अन्‍ना हजारे ने भी एफडीआई मामले पर कांग्रेस पार्टी की खिंचाई की थी। सरकार अब आने वाले समय में होने वाले 5 राज्‍यों के चुनावों से पहले जनता को विरोध नहीं चाहती है जिस वजह से उसने मुश्किलों का सबब बने इस बिल को फिलहाल के लिए टालने का फैसला किया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After facing heavy protest from Opposition, Allies and local businessman UPA government decide to step down on FDI.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X