• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ममता की ना के बाद सरकार एफडीआई को टालने में जुटी

|

नई दिल्ली। लगातार संसद ना चलने, विरोधियों और सहयोगियों की नाराजगी झेल रही मनमोहन सरकार शायद एफडीआई मुद्दे पर नरम पड़ सकती है। हालांकि वो पहले बोल चुकी है कि वो अपने कदम पीछे नहीं करेगी लेकिन लगता है कि वो इस मामले को कुछ दिन के लिए टाल दें। तृणमूल कांग्रेस की बेरूखी के चलते सरकार यह कदम उठा सकती है।

पीटीआई के मुताबिक सरकार इस मुद्दे को टालने पर विचार कर रही है जिससे संसद की प्रक्रिया आग चल पाये। फिलहाल जो कुछ भी वो तय करेगी वो बुधवार को अपने फैसले के रूप में सुनायेगी।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से शुक्रवार को फोन पर बात की थी और एफडीआई के मुद्दे पर उनका समर्थन मांगा था। लेकिन ममता ने उनकी बात सिरे से खारिज कर दी जिसके बाद यह खबर आ रही है कि एफडीआई के मु्द्दे को फिलहाल विराम देने के मूड में है सरकार।

English summary
The government is considering putting on hold a possible vote on allowing 51% foreign equity in multi-brand retail.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X