• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बिहार विधानसभा चुनाव 2010 बनाम 2005

By Ajay Mohan
|

Nitish Kumar
पटना। दोबारा तीन निशाने पर मारते हुए बिहार के नीतीश कुमार एक बार फिर राज्‍य के मुख्‍यमंत्री बने गए हैं। पिछले विधानसभा चुनाव यानी 2005 में जिस प्रकार नीतीश की जीत हुई थी, वो सिर्फ इसलिए क्‍योंकि उससे पहले बिहार का शासन 'काल' के समान था। हर लोगों की उम्‍मीदों पर पूरी तरह खरे उतरे नीतीश ने और ज्‍यादा सीटों पर कब्‍जा किया है। वहीं लालू यादव की पार्टी राजद और कांग्रेस की सीटें आधी से भी कम हो गईं।

वर्ष 2005 में नीतीश की जनता दल यूनाइटेड ने जहां 88 सीटें जीती थीं, वहीं इस बार 115 सीटों पर कब्‍जा किया है। भाजपा ने 55 के आंकड़से से छलांग लगाते हुए 91 सीटों पर विजय हांसिल की। दोनों पार्टियों के गठबंधन की कुल 206 सीटों के बल पर बिहार को एक बार फिर सुशासन मिला है।

पार्टी 2005 2010
जनता दल (यूनाइटेड) 88 115
भारतीय जनता पार्टी 55 91
राष्‍ट्रीय जनता दल 54 22
लोक जनशक्ति पार्टी 10 3
कांग्रेस 9 4
भारतीय कम्‍युनिस्‍ट पार्टी 9 1
निर्दलीय व अन्‍य पार्टियां 18 7

वहीं हारने वाली पार्टियों में सबसे ऊपर नाम है लालू की राष्‍ट्रीय जनता दल और रामविलास पासवान की लोकजनशक्ति पार्टी। राजद ने 2005 में जहां 54 सीटें जीती थीं, वहीं इस बार वो 22 पर ही सिमट गई। वहीं लोजपा का स्‍कोर 10 से गिरकर 3 हो गया। कांग्रेस जो 2005 में 9 रन पर आउट हुई थी, इस बार मात्र 4 रन बना सकी। वाम दलों को भी जबर्दस्‍त नुकसान हुआ। वाम दलों को आठ सीटों का नुकसान हुआ और वो सिर्फ एक सीट जीत सके।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X