हिंदी मीडिया के प्रतिबंध पर राज ठाकरे की निंदा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
raj thackeray
पुणे, 12 फरवरीः महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे के नौ फरवरी को उनकी प्रेस कान्प्रेंस में हिंदी मीडिया पर लगायी गई रोक पर :नेटवर्क ऑफ वूमेन इन मीडिया" ने निंदा की है.

एनडब्ल्यूएमआई ने तीन दिवसीय छठवें सम्मेलन के अंत में कल यहां एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि मनसे पुलिस, सरकार और अदालत तीनों की भूमिका एक साथ कर रही है और संकीर्णता का परिचय दे रही है.

विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह निरंकुश, अन्यायपूर्ण और गैरकानूनी है. यह एक तरह से प्रेस की आजादी पर हमला है. किसी एक को भेद कर प्रेस कान्प्रेंस नहीं बुलाना राज ठाकरे का पूर्वाग्रह और अलोकतांत्रिक विचार है.

एनडब्ल्यूएमआई ने देश के सभी महिला पत्रकारों से एकता बनाये रखने का आह्वान किया और कहा है कि मीडिया को यह ध्यान रखना चाहिए कि इस तरह के बांटने वाले मामले में संगठित निर्णय लेना चाहिए. देश की लगभग 100 महिला पत्रकारों ने यहां तीन दिवसीय सम्मेलन में भाग लिया.

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

X