श्वेता चाहती हैं राहुल से तलाक

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

rahul-shwetaगुड़गांव, 14 दिसंबरः बीजेपी के दिवंगत नेता प्रमोद महाजन के बेटे राहुल महाजन और उनकी पत्नी श्वेता सिंह के बीच मतभेद की खबर आखिर सच साबित हुई. महज 15 महीने पहले राहुल के साथ विवाह के बंधन में बंधी श्वेता अब उनसे छुटकारा चाहती हैं. श्वेता ने गुड़गांव के जिला और सत्र न्यायाधीश रामेंद्र जैन की अदालत में तलाक के लिए अर्जी दायर की है. उनके साथ उनकी मां और कुछ वकील थे. अदालत ने राहुल महाजन का पक्ष जानने के लिए 24 जनवरी की तारीख तय की है. सूत्रों के अनुसार दोनों पति-पत्नी सहमति से तलाक लेना चाहते हैं.

श्वेता ने राहुल से तब शादी की जब वह अपने पिता प्रमोद महाजन की हत्या के बाद गम गलत करने के लिए कोकीन के नशे में डूबे रहते थे. उस दौर में श्वेता ने राहुल का पूरा साथ दिया लेकिन अब हालात इस मुकाम पर पहुँच गए कि दोनों ही इस विवाह से छुटकारा चाहते हैं.गुरुवार की सुबह श्वेता गुड़गाँव की अदालत में अपनी माँ के साथ पहुँची और सत्र न्यायाधीश रामेंद्र जैन की अदालत में हिन्दू विवाह एक्ट की धारा 13 बी के तहत तलाक लेने के लिए अर्जी दाखिल की. न्यायालय ने श्वेता से गुड़गांव की निवासी होने का प्रमाण पत्र माँगा और राहुल का पक्ष जानने के लिए अगली सुनवाई के लिए 24 जनवरी की तारीख मुकर्रर कर दी.

श्वेता के वकीलों ने बताया कि लंबे समय से दोस्त रहे महाजन दंपति ने परस्पर सहमति से तलाक लेने का फैसला लिया है. हालांकि राहुल और उनके वकील उस वक्त अदालत में मौजूद नहीं थे. तलाक के बारे में अभी उनकी चुप्पी यह जताती है कि वे भी 'स्वतंत्र' होना चाहते हैं. राहुल और श्वेता ने विदेश में उड़ान संबंधी कोर्स साथ - साथ किया था और दोनों परिवार एक दूसरे को लंबे समय से जानते थे. दोनों का विवाह गत वर्ष 29 अगस्त को संपन्न हुआ था.

राहुल से जब संवाददाताओं ने उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने कहा , ' यह आपसी सहमति का मामला है और निजी मामला है. मैं इस पर और बात नहीं करना चाहता तथा मैंने जो कह दिया , कह दिया और कयासबाजी इसका या मेरे शब्दकोश का हिस्सा नहीं है. '

श्वेता ने इस मुद्दे पर चुप्पी बरकरार रखी. श्वेता ने कहा , ' यह काफी व्यक्तिगत है और इसे रहने दीजिए. मैं इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहती.'

गौरचतलब है कि शादी के बाद जब श्वेता और राहुल हनीमून मनाने विदेश गए तो वहां राश्वेता ने राहुल का असली रूप देखा जब राहुल ने उसकी पिटाई की. इस मामले का खुलासा मिड-डे की एक संवाददाता ने किया था, जो श्वेता की मित्र भी थीं. बाद में जब श्वेता के हाथ पर चोट के निशान अखबार के पन्नों तक पहुँचे तो राहुल ने यह सफाई दी कि वह साइकिल से गिर पड़ी थी.

बाद में रोजाना की किचकिच और मारपीट की घटनाओं ने श्वेता को भीतर तक हिलाकर रख दिया और वह मुंबई छोड़कर अपनी माँ के पास गुड़गाँव में रहने लगी. कुछ महीने बाद दोनो के बीच एक बार फिर से सबकुछ ठीक होने लगा लेकिन राहुल की आदतें नहीं बदलीं ऐर एक बार फिर श्वेता गुड़गाँव पहुँच गई.

आखिरकार गुरुवार को वह दिन भी सामने आ गया, जब पूरे देश को यह पता चल गया कि श्वेता और राहुल महाजन के रास्ते अलग-अलग होने जा रहे हैं.

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.