नगालैंडः सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव गिरा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi


nagalandकोहिमा, 14 दिसंबरः नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो के नेतृत्व वाली जनतांत्रिक गठबंधन सरकार के खिलाफ विपक्ष द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव आज राज्य विधान सभा में 23-19 मतों से गिर गया.

राज्य विधान सभा के एक दिवसीय सत्र की कार्यवाही कल सुबह साढ़े नौ बजे विधानसभा अध्यक्ष के सदन में पहुंचने के साथ शुरु हुई. विपक्षी कांग्रेस के सदस्य अपने नेता आई इमोकांग के नेतृत्व में मतदान में हिस्सा लेने से रोके गए तीन निर्दलीय सदस्यों को मतदान में शामिल करने की मांग करते हुए शोर करने लगे. कांग्रेस सदस्यों के साथ तीनों निर्दलीय सदस्य भी सदन के बीचोंबीच आकर शोर करने लगे तो अध्यक्ष ने दस मिनट के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी. बाद में जब दोबारा सदन की कार्यवाही शुरु हुई तो सदस्यों ने फिर हंगामा किया और अध्यक्ष ने फिर बीस मिनट के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी.

तीसरी बार जब सदन की कार्यवाही शुरु हुई तो इमोकांग ने सदन में अविश्वास का प्रस्ताव रखा. जिसका जनता दल (युनाइटेड) के विधायक हुस्का सुमी तथा निर्दलीय सदस्य पी चुबा चांग ने समर्थन किया. इसी बीच नगालैंड पीपुल्स फ्रंट पार्टी से इस्तीफा दे चुके छह सदस्य सदन में आकर कार्यवाही में हिस्सा लेने लगे तो अध्यक्ष ने तीसरी बार सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी.

इसके बाद जब सदन की कार्यवाही शुरु हुई तो अध्यक्ष ने दो आदेश पढ़कर कहा कि जो सदस्य अपने दलों के हि्वप का पालन नहीं करेंगे उनके वोट अवैध माने जाएंगे. इसके बाद मतदान का प्रस्ताव रखा गया और कांग्रेस, तीन निर्दलीय तथा नगालैंड पीपुल्स फ्रंट से इस्तीफा दे चुके नौ सदस्यों ने प्रस्ताव के पक्ष में मतदान में हिस्सा लेते हुए हाथ उठाए. अध्यक्ष ने प्रस्ताव का विरोध करने वाले सदस्यों से हाथ उठाने को कहा तो सत्ता पक्ष के सदस्यों ने हाथ उठाकर इसका विरोध किया और अविश्वास प्रस्ताव 23-19 मतों से गिर गया. विपक्षी सदस्य अध्यक्ष की व्यवस्था का विरोध कर सदन से उठकर राज्यपाल के समक्ष अपनी संख्या का प्रर्दशन करने के लिए राजभवन की तरफ चले गए.

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.