राष्ट्रीय. विदेशी डिग्री मान्यता दो अंतिम नयी दिल्ली..

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
ता दो अंतिम नयी दिल्ली.. श्री रामदास ने भारतीय डाक्टरों को विश्व में सर्वश्रेष्ठ बताते हुये देश के चिकित्सा पाठ्यक्रम में अंतरराष्ट्रीय पाठयक्रमों के अनुप बदलाव लाने की जरत जतायी 1 उन्होेंने कहा कि भारतीय युवा पीढी केवल किताबी कीडे बनकर रह रहे हैं 1 जबकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्थिति इससे भिन्न है 1उन्होेंने कहा कि आज जरत इस बात की है कि हमारा पाठयक्रम अंतरराष्ट्रीय सतर पर भी स्वीकार्य हो

उन्होंने कहा कि देश में आपात स्थितियों में इस्तेमाल होने वाली दवाओं जैसा कोई विकल्प ही नहीं जबकि इसकी हमारे देश में बेहद जरत है 1 उन्होेंने भारतीय मेडिकल काउंसिल .एमसीआई. जैसी संस्थाओं को इमरजैंसी मेडिसन में नये पाठयक्रम शु करने का भी सुाव दिया

आरती संजीव समरेन्द्र लखमी1916वार्ता...

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.