राष्ट्रीय. स्वास्थ्य. सम्मेलन. एएपीआई. दो अंतिम नयी दिल्ली..

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
. दो अंतिम नयी दिल्ली.. डा. पटेल ने अमरीका में भारतीय चिकित्सकों को मान्यता देने के फैसले पर खुशी जताते हुए कहा कि अमरीका ने भारतीय पाठ्यक्रमों और चिकित्सकीय प्रशिक्षण व्यवस्था को मान्यता प्रदान की है जो एक सकारात्मक पहल है1 उन्होंने कहा.. हमारा यह प्रयास होगा कि जिस तरह भारतीय युवक अमरीका जाकर चिकित्सा संबंधी अध्ययन हासिल करते हैं, वैसे ही अमरीकी चिकित्सक भारत आकर यहां की स्थितियों का अध्ययन करें ताकि दोनों देश मिलक र विभिन्न रोगों के निदान के लिए आवश्यक अनुसंधान कर सकें1. डा. पटेल ने कहा कि अमरीका में चिकित्सा संबंधी योजनाओं में चिकित्सकों को शामिल नहीं किया जाता है. इसलिए वहां की योजनाओं की भी स्थिति अच्छी नहीं है. लेकिन अब सरकार ने 15 जाने..माने चिकित्सकों को नीति निर्माण में शामिल करने का फैसला किया है और ऐसे ही कदम भारत में भी उठाये जाने की जरूरत है. तभी यहां की चिकित्सकीय योजनाएं फलीभूत होंगी1 आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. अजय कुमार ने देश में टी बी निवारण सहित अनेक चिकित्सा परियोजनाओं की असफलता पर चिंता व्यक्त करते हुए इसके लिए सरकार की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया1 डा. कुमार ने कहा कि सरकार चिकित्सा परियोजनाओं को शुरू करने से पहले आईएमए जैसी संस्थाओं से मशविरा नहीं करती और इसका नतीजा होता है कि देश के सुदूर क्षेत्रों की परिस्थितियों और वहां की आम आबादी के रहन..सहन और जीवन स्तर को समे बिना तैयार की गयी परियोजनाएं असफल साबित होती हैं1 उन्होंने कहा कि इस तरह के सम्मेलन के जरिये देश की चिकित्सा संबंधी समस्याओं के निदान पर व्यापक बहस हो सकती है और लोगों में विभिन्न बीमारियों के प्रति जागरूकता पैदा की जा सकती है1 इस अवसर पर एमसीआई के वेद प्रकाश मिश्रा ने अमरीका में रहने वाले भारतीय मूल के चिकित्सकों से अपील की कि वे जड से जुडे रहकर अपने देश की सेवा करने में कोई कोर..कसर न छोडें1 सुरेश सत्या अजय जगबीर1800वार्ता
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.