स्थायी समिति ने कुछ संशोधनों के साथ रिक्शा नीति को पारित किया

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नयी दिल्ली 13 दिसम्बर.वार्ता. दिल्ली नगर निगम की स्थायी समिति की बैठक में आज विपक्ष के बहिष्कार के बीच प्रस्तावित रिक्शा नीति में कुछ संशोधन कर पारित कर दी गयी1 इस नीति को अमली जामा पहनाने के लिए अब निगम की आम बैठक में चर्चा के लिए रखा जायेगा1 संशोधनों में 15 फुट से कम चौडी सडक पर रिक्शे के चलाने के प्रतिबंध को खत्म करने के साथ ही पुरानी रिक्शा पर मालिकाना हक .समय .समय पर जरत के हिसाब से रिक्शों की संख्या बढाना और स्कूली रिक्शा के लिए 14 वर्ष के दो बच्चों की शर्त को हटा दिया गया है

रिक्शा नीति को लेकर स्थायी समिति की बैठक में सत्ताढ भारतीय जनता पार्टी और विपक्ष के सदस्यों के बीच लगातार कहा सुनी होती रही1 बैठक शु होने पर सत्तापक्ष अनधिकृत चौथी और पांचवीं मंजिल पर आम माफी के प्रस्ताव पर बहस कराना चाहता था जबकि विपक्ष के सदस्यों की मांग थी कि पहले रिक्शा नीति पर चर्चा कराई जाये

उल्लेखनीय है कि इस मसले पर कल भी बैठक भारी हंगामे के चलते स्थगित करनी पडी थी 1 विपक्ष के व्यवहार से नाराज सत्तापक्ष के सदस्यों ने उपराज्यपाल के यहां शिकायत की 1 विपक्ष ने भी आज सत्तापक्ष के खिलाफ उपराज्यपाल को लिखित में शिकायत की

नीति पर चर्चा के दौरान भाजपा के सदस्यों ने इसका पुरजोर समर्थन किया जबकि कांग्रेस के पार्षदों ने इसे गरीब लोगों की रोजी रोटी छीनने वाला बताया 1 विपक्ष के नेता जयकिशन शर्मा ने कहा कि कांग्रेस निगम में अपने शासन के दौरान इस वर्ष सात फरवरी को रिक्शा नीति का प्राप पेश कर चुकी है .जिसे न्यायालय की मंजूरी मिल गई1इसके बावजूद विपक्ष ूठी वाहवाही लूटने के लिए नीति लाने की बात कर रहा है1 उन्होंने कहा कि नीति में 90 हजार सवारी रिक्शा के लिए मंजूरी दी गई है .जबकि भाजपा इसे घटाकर 52 हजार करना चाहती है 1 इसी प्रकार माल ढोने वाले रिक्शों की संख्या कम करने और हाथ ठेली पर कई जोनों में रोक पर श्री शर्मा ने आपत्ति जताई 1 मिश्रा समरेन्द्र मनोरंजन 1938 जारी.वार्ता.

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.