मोदी चुनाव आयोग और अदालत को चुनौती दे रहे हैं. वामपंथी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नयी दिल्ली. 13 दिसंबर. वार्ता. गुजरात मेंं फर्जी मुठभेड में सोहराबुद्दीन की हत्या को जायज ठहराये जाने के बाद अब प्रधानमंत्री को 2002 के दंगों के मामले.दुबारा खोलने. की मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी की चुनौती को वामपंथी दलों ने.साम्प्रदायिकता का बदनुमा चेहरा. बताते हुए कहा है कि वास्तव में वह कांग्रेस नेतृत्व की आड में चुनाव आयोग एवं उच्चतम न्यायालय को ही चुनौती दे रहे हैं

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी. माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी तथा फारवर्ड ब्लाक के नेताओं ने हिम्मतनगर की चुनावी रैली में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को दंगों के मामले फिर से खोलने तथा उन्हें .श्री मोदी को. गिरफ्तार करने की मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के नेता की चुनौती पर टिप्पणी करते हुए आज यह बात कही1 भाकपा के महासचिव ए. बी बर्द्धन. राष्ट्रीय सचिव शमीम फैजी. लोकसभा में माकपा के मुख्य सचेतक रुपचंद पाल तथा फारवर्ड ब्लाक के सचिव जी देवराजन ने कहा कि न तो व्यापारी सोहराबुद्दीन शेख की फर्जी मुठभेड में हत्या को उचित ठहराना कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के .मौत के सौदागर. संबंधी बयान की प्रतिक्रिया था और न श्री मोदी की नयी चुनौती दंगों के कुछ मामले फिर से खोलने के संबंध मेंं प्रधानमंत्री के बयान का जवाब है

इन वामपंथी नेताओंं ने यूनीवार्ता से अलग. अलग बातचीत में कहा कि गुजरात विधानसभा के चुनावों में विकास के मुद्दों की हवा निकल जाने के बाद भाजपा तथा श्री मोदी साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण के अपने पुराने फार्मूले पर लौट गए हैं और इसीक्रम में शीर्ष कांग्रेसी नेतृत्व की आड में चुनाव आयोग से लेकर उच्चतम न्यायालय तक को ललकार रहे हैं1 ग्यातव्य है कि फर्जी मुठभेड को जायज बताने पर उच्चतम न्यायालय कल ही श्री मोदी को अदालत की अवमानना का नोटिस भी जारी कर चुका है

राजेश. समरेन्द्र. अजय नंद1957 जारी.वार्ता

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.