India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

भारतीय स्टूडेंट्स को यूरोप में क्यों लुभाता है इटली? जानिए कम खर्चे में कैसे पढ़ते हैं छात्र

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 26 जून। वर्तमान में शिक्षा के बाद रोजगार के लिए लोगोों दर- बदर भटकना पड़ता है। ऐसे में युवाओं की समस्याओं को मिटाने के लिए इटली में की आकर्षकत योजनाएं हैं। जिन्हें जानकर युवा आकर्षित होते हैं।

ईटली में वैश्विक संस्कृतियों से होता है सामना

ईटली में वैश्विक संस्कृतियों से होता है सामना

अन्य देशों के की तुलना में इटली में अंतर्राष्ट्रीय छात्रों की संख्या हर साल बढ़ रही है। भारतीय स्टूडेंट्स सुभाष कहते हैं कि इटली के विश्वविद्यालय कई देशों के छात्रों को अवसर प्रदान करता है। इससे हमें विभिन्न स्थानों के साथियों के साथ संवाद करने और विभिन्न संस्कृतियों को जानने और समझने में मदद मिली है। प्रारंभ में जब उसका कोर्स शुरू हुआ तो महामारी के कारण यात्रा और वीजा प्रतिबंध थे, लेकिन अब सब कुछ समाप्त हो गया है।

विदेशी भाषा में पढ़ाई का अलग मजा

विदेशी भाषा में पढ़ाई का अलग मजा

स्टूडेंट्स कहते है कि इटली में पढ़ाई का अनुभव उसके लिए बहुत रोमांचक रहा है। शिक्षा के साथ यहां इतालवी संस्कृति का आनंद लेने और खूबसूरत जगहों का पता लगाने का मौका मिलता है। इटली एक खूबसूरत देश है जहां पिछले कुछ वर्षों से कई भारतीय छात्र पढ़ाई करने जाते हैं। कुछ भारतीय तो वहीं बस गए हैं।

स्टूडेंट्स के खर्चे को कम करने के लिए मिलती है स्कॉलरशिप

स्टूडेंट्स के खर्चे को कम करने के लिए मिलती है स्कॉलरशिप

अंतर्राष्ट्रीय छात्रों के लिए उपलब्ध छात्रवृत्ति इटली की शिक्षा व्यवस्था को उच्च बनाती है। छात्रा साश्वती घोष 2019 से इटली में मिलान के पास पोलीटेक्निको डि मिलानो में मास्टर्स की स्टूडेंट हैं। वो शहरी नियोजन और नीति में एमएससी पाठ्यक्रम में शामिल हुईं। वो कहती हैं कि इटली की शिक्षा स्टूडेंट्स के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर के अवसर उपलब्ध कराती है। भारतीय छात्रा अंबिका सुभाष इटली की यूनिवर्सिटी ऑफ मिलान में स्टूडेंट हैं। 2009 में बैंगलोर विश्वविद्यालय से व्यवसाय प्रबंधन में स्नातक होने के बाद उन्होंने विदेश में मास्टर कार्यक्रम में शामिल होने के अपने सपने को पूरा करने का फैसला करने से पहले विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न कंपनियों में 10 वर्षों तक काम किया। हालांकि 2018 में एक त्रों को छात्रवृत्ति की पेशकश की गई थी। इससे मुझे ठीक होने और अपने नए करियर की योजना बनाने में मदद मिली।

शिक्षा के बाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर रोजगार के अवसर

शिक्षा के बाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर रोजगार के अवसर

भारतीय स्टूडेंट्स का कहना है कि इटली के विश्वविद्यालय कई देशों के छात्रों को अवसर प्रदान करता है। इससे संवाद करने और विभिन्न संस्कृतियों को जानने और समझने में मदद मिली है। यहां शिक्षा लेने के बात कई स्टूडेंट फ्रांस, डेनमार्क, स्वीडन, नॉर्वे और आयरलैंड जैसे देशों में अच्छी नौकरियां कर रहे हैं।

इतावली भाषा की समस्या

इतावली भाषा की समस्या

इटली में भारत के छात्रों के सामने एक बड़ी चुनौती इतालवी भाषा सीखना है। भारत में यूनी-इटालिया केंद्र की निदेशक फेडेरिका मारिया गियोव कहती हैं कि हर साल इटली में पढ़ने के लिए जाने वाले भारतीय छात्रों को वीजा जारी किए जाने की संख्या लगभग 3500 है। विदेश में इटली में अध्ययन को बढ़ावा देना। मुंबई में इटली के महावाणिज्य दूतावास को उम्मीद है कि इस वर्ष भारतीय छात्रों की संख्या में वृद्धि होगी। गियोव ने कहा कि इटली में यूरोपीय संघ में अंतरराष्ट्रीय छात्रों का छठा सबसे बड़ा समूह है और भारतीय छात्र शीर्ष पांच समूहों में शामिल हैं। इनकी संख्या हर साल बढ़ रही है।

Sangrur Lok Sabha bypoll: AAP प्रत्याशी को झटका, SAD की 8101 मतों से जीतSangrur Lok Sabha bypoll: AAP प्रत्याशी को झटका, SAD की 8101 मतों से जीत

Comments
English summary
Why Italy attracts Indian students to Europe know how students study at low cost
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X