• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जो छात्र किसी परीक्षा में शामिल नहीं हो सके उनका टेलीफोनिक मूल्यांकन कर सकते हैं स्कूल- सीबीएसई

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 25 मई। सीबीएसई ने स्कूलों को उन छात्रों का टेलीफोनिक मूल्यांकन करने की अनुमति दी है जो पूरी साल किसी भी परीक्षा में शामिल नहीं हो सके। यह नियम केवल कक्षा 10 के छात्रों पर लागू होगा। चूंकि कक्षा 10 के छात्रों के लिए बोर्ड परीक्षा आयोजित नहीं की जा रही है, इसलिए बोर्ड ने उन छात्रों के लिए छूट की अनुमति दी है जो किसी भी कारण से अपने संबंधित स्कूलों द्वारा आयोजित ऑनलाइन मूल्यांकन में शामिल नहीं हो सके। यह कम आय वाले पृष्ठभूमि के छात्रों के लिए फायदेमंद हो सकता है जो ऑनलाइन स्टडी नहीं कर सकते।

CBSE

सीबीएसई ने अपने आधिकारिक आदेश में कहा, 'जो छात्र स्कूल द्वारा आयोजित किए गए मूल्यांकन में शामिल नहीं हो सका है तो स्कूल उसके लिए ऑनलाइन/ऑफलाइन या टेलीफोनिक मूल्यांकन करा सकता है। भविष्य में किसी भी प्रकार की प्रमाणिकता के लिए स्कूल इसका रिकॉर्ड सुरक्षित रखें। प्रत्येक विषय में अधिकतम अंकों में से विद्यालय द्वारा उस आधार पर विद्यार्थी का वस्तुनिष्ठ मूल्यांकन किया जा सकता है।' सीबीएसई ने आगे कहा कि इस आदेश से उसका उद्देश्य सीबीएसई कक्षा 10 के छात्रों के लिए मूल्यांकन अंक भरने में स्कूलों की मदद करना है।

यह भी पढ़ें: पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 1.96 लाख से ज्यादा नए केस, 3511 मरीजों ने दम तोड़ा

सीबीएसई के आदेश के अनुसार यदि स्कूल का किसी छात्र से संपर्क नहीं हो पा रहा है और यदि वह प्री-बोर्ड के लिए भी उपस्थित नहीं हुआ है तो उसे अनुपस्थित बताया जाएगा। सीबीएसई ने विद्यार्थियों के रिजल्ट की गणना करने के लिए स्कूलों को पांच अध्यापकों की एक कमेटी गठित करने के लिए कहा है। इसके अलावा इस कमेटी में अन्य किसी स्कूल के दो शिक्षकों को भी समायोजित किया जाना चाहिए। चूंकि इस साल बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं, इसलिए स्कूलों से छात्रों को साल भर स्कूल द्वारा आयोजित विभिन्न परीक्षाओं और परीक्षाओं के आधार पर अंतिम परीक्षा के लिए अंक देने के लिए कहा गया है। इस प्रक्रिया में प्रीबोर्ड परीक्षाओं को अधिकतम वेटेज दिया जाएगा जो 40 अंकों के लिए होगा। स्कूलों द्वारा आयोजित मिड-टर्म या यूनिट टेस्ट 30 अंकों के लिए चिह्नित होंगे और पीरियॉडिक परीक्षण बोर्ड द्वारा तय किए गए मानदंड के अनुसार 10 अंकों का होगा।

अधिकांश छात्रों के परिणामों की गणना में बोर्ड द्वारा निर्धारित इस प्रक्रिया का पालन किया जायेगा जबकि उन छात्रों को छूट दी गई है तो किसी कारणवश परीक्षा नहीं दे सके हैं। इस बीच, सीबीएसई ने स्कूलों द्वारा गणना किए गए कक्षा 10 के मूल्यांकन अंकों को जमा करने की समय सीमा 30 जून तक बढ़ा दी है, इसके साथ कक्षा 10 का परिणाम जो जून के तीसरे सप्ताह में जारी किया जाना था उसे भी स्थगित कर दिया गया है। हालांकि बोर्ड ने रिजल्ट जारी करने की नई तारीख अभी जारी नहीं की है।

English summary
Students who could not appear in any examination, Schools can evaluate them telephonically - CBSE
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X