• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

DSP और डिप्टी कलेक्टर की भर्तियों में इंटरव्यू खत्म, इस राज्य ने लिया फैसला

|
Google Oneindia News

अमरावती, 27 जून: आंध्र प्रदेश सरकार ने सरकारी विभागों में सभी तरह की भर्तियों के लिए इंटरव्यू को खत्म कर दिया है। यह व्यवस्था ग्रुप-1 सेवाओं पर भी लागू होगी। यानी आंध्र प्रदेश में अब किसी भी सरकारी नौकरी के लिए इंटरव्यू नहीं देना होगा और सिर्फ लिखित परीक्षाओं के आधार पर ही मेरिट लिस्ट तैयार होगी। राज्य सरकार के मुताबिक यह व्यवस्था लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए किया गया है। गौरतलब है कि कई बार ग्रामीण परिवेश के प्रतियोगियों की यह शिकायत होती है कि साक्षात्कार में उनके बैकग्राउंड की वजह से उनके साथ भेदभाव होता है।

आंध्र प्रदेश में बिना इंटरव्यू दिए बनेंगे डीसी-डीएसपी

आंध्र प्रदेश में बिना इंटरव्यू दिए बनेंगे डीसी-डीएसपी

आंध्र प्रदेश सरकार ने राज्य लोक सेवा आयोग के जरिए होने वाली सरकारी विभागों में सभी तरह की भर्तियों के लिए इंटरव्यू की व्यवस्था खत्म कर दी है। शनिवार को इस संबंध में राज्य के मुख्य सचिव आदित्यनाथ दास ने आदेश जारी कर दिया है। राज्य सरकार ने हाल ही घोषणा की है कि वह मौजूदा वित्त वर्ष (2021-22) में 10,143 पदों पर सरकारी नौकरियां देगी। अब राज्य के मुख्य सचिव ने अपने आदेश में कहा है कि राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि आंध्र प्रदेश लोक सेवा आयोग के जरिए होने वाली ग्रुप-1 सेवाओं समेत सभी श्रेणियों की भर्तियां बगैर साक्षात्कार के ही होंगी। यह फैसला 26 जून (शनिवार) और उसके बाद जारी सभी भर्ती अधिसूचनाओं पर लागू होगा।

इंटरव्यू खत्म करने का फैसला क्यों ?

इंटरव्यू खत्म करने का फैसला क्यों ?

राज्य सरकार इस तरह के फैसले के पीछे की वजह पूर्ण पारदर्शिता बरतने और पूरी नियुक्ति प्रक्रिया में प्रतियोगी उम्मीदवारों का पूरा भरोसा बनाए रखना बता रही है। मुख्य सचिव ने राज्य लोक सेवा आयोग के सचिव को इस आदेश पर अमल के लिए सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। आंध्र यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर एस प्रसन्ना श्री ने राज्य सरकार के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा है, 'इससे ग्रामीण परिवेश वाले उम्मीदवारों को मदद मिलेगी, जो लिखित परीक्षाओं में बहुत ही अच्छा करने के बावजूद इंटरव्यू में नहीं निकल पाते हैं।' उनका मानना है कि अगर उनमें एडमिनिस्ट्रेटिव स्किल है तो कम्युनिकेशन स्किल बहुत ज्यादा मायने नहीं रखती। उनका यह भी कहना है कि इससे नियुक्ति प्रक्रिया में भ्रष्टाचार का भी खात्मा हो जाएगा और सिर्फ मेरिट के आधार पर ही नियुक्तियां होंगी।

ग्रुप-1 सेवा में हैं कुल 19 तरह के पद

ग्रुप-1 सेवा में हैं कुल 19 तरह के पद

आंध्र प्रदेश में पिछले साल ग्रुप 1 के लिए आयोजित हुई परीक्षाओं के मुताबिक वहां इस श्रेणी में 19 तरह के पद हैं, जो कि किसी भी राज्य लोकसभा आयोग के लिए क्रीम पोस्ट माने जाते हैं। इनमें आंध्र प्रदेश सिविल सेवा के तहत डिप्टी कलेक्टर, आंध्र प्रदेश स्टेट टैक्स सर्विस के तहत असिस्टेंट कमिश्नर, आंध्र प्रदेश पुलिस सेवा के तहत डीएसपी, आंध्र प्रदेश जेल सेवा के तहत डिप्टी सुपरिटेंडेंट जेल और आंध्र प्रदेश फायर सर्विस के तहत डिस्ट्रिक्ट फायर ऑफिसर जैसे पद शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें-सरकारी नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए कई विभागों में निकलीं बंपर भर्ती, जल्दी करें आवेदनइसे भी पढ़ें-सरकारी नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए कई विभागों में निकलीं बंपर भर्ती, जल्दी करें आवेदन

पिछले साल की परीक्षा का इंटरव्यू भी निलंबित है

पिछले साल की परीक्षा का इंटरव्यू भी निलंबित है

बता दें कि बीते बुधवार को ही आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट ने पिछले साल की ग्रुप-1 भर्ती प्रक्रिया के तहत होने वाले इंटरव्यू को चार सप्ताह के लिए स्थगित करने का आदेश दिया था। इसके लिए मुख्य परीक्षा 2020 के दिसंबर में आयोजित हुई थी और 326 उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए शॉर्टिलिस्ट किया गया था। यह आदेश मेन्स की कॉपी की ऑनलाइन मूल्यांकन को लेकर सवाल उठाए जाने पर दिया गया है। (तस्वीरें- सांकेतिक)

English summary
In Andhra Pradesh, now the interview in Group-1 services is also over, Jagan Mohan Reddy government's decision to maintain transparency
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X