• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कंपनियों के डिजिटल होते ही आईटी में बढ़ा रोजगार, जानें कहां हैं जॉब

|

बेंगलुरु / पुणे, अप्रैल 19: कोरोना महामारी में अधिकांश कंपनियां अपना काम डिजिटल कर रहे हैं। जिसके चलते आईटी कंपनियों में रोजगार के अवसर बढ़ गए हैं। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज टीसीएस एनएसई -0.46फीसदी, इंफोसिस एनएसई में 1.44 फीसदी और विप्रो एनएसई 0.99फीसदी आईटी कर्मचारियों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए काम कर रहे हैं। ये कंपनियां अपने ग्राहकों की कंपनियों को डिजीटल कर रहे हैं।

job
टीसीएस की योजना इस साल 40,000 से अधिक लोगों को कैंपस सलेक्‍शन से नियुक्त करने की है, जबकि इंफोसिस के लगभग 25,000 लोगों को कैंपस से भर्ती करने की संभावना है। विप्रो, जिसने हायरिंग प्लान नहीं दिया है, ने कहा कि उनकी कंपनी पिछले साल की तुलना में अधिक लोगों को जॉब पर रखेगी।

इंफोसिस के मुख्य परिचालन अधिकारी प्रवीण राव ने पिछले हफ्ते विश्लेषकों को बताया कि वर्तमान समय में लोगों की डिमांड बहुत बढ़ी है। उन्‍होंने कहा वर्तमान समय में कई डेवलेपमेंट हो रहे हैं जिसके चलते टैलेंट की डिमांड बढ़ गई है।

विश्लेषकों का कहना है कि TCS, Wipro, Infosys, HCL Technologies NSE 0.80 प्रतिशऔर Tech Mahindra NSE -0.41 प्रतिशत सहित शीर्ष पांच कंपनियां इस साल 110,000 से अधिक लोगों को नियुक्त करेंगी, जो पिछले साल 90,000 से अधिक नौकरियां देंगी । "नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत उच्च स्तर पर होने वाली है। नए सिरे से काम पर रखने की योजना, पेंट-अप की मांग के कारण हुई है।

कारंथ ने कहा कि 120,000 से अधिक के अटैचमेंट-लिंक्ड रिप्लेसमेंट हायरिंग के साथ, इन कंपनियों का कुल हायरिंग मंथ 210,000 था। TCS ने पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में रिकॉर्ड 7.2% अट्रैक्शन रेट दर्ज किया है, इनफ़ोसिस और विप्रो के लिए attrition रेट तेज़ी से बढ़ा है।

बेंगलुरु की दोनों कंपनियों ने पुष्टि की है कि आगे और भी बढ़ोतरी होगी और वो और नौकरियों को बढ़ाने पर काम कर हैं। इंफोसिस के राव ने कहा, "अगले एक या दो तिमाहियों में ऐसे ही नौकरियों की अपार संभावनाएं रहेंगी। " लगभग 15% attrition रेट कंपनी के औसत के उच्च स्‍तर पर है और पिछली तिमाही की तुलना में अधिक है। राव ने कहा कि इसके साथ इंटरवेशन, प्रमोशन और अन्‍य इन्‍सेन्टिव्‍स के लिए भी हम आश्वस्त हैं। उन्‍होंने कहा वित्‍तीय वर्ष 2015 में हमने 21,000 कर्मचारियों को विश्व स्तर के कैंपस सलेक्‍शन किया था और इस साल हम 25,000 कर्मचारियों को जोड़ने की योजना बना रहे हैं।"

विप्रो के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी सौरभ गोविल ने कहा कि अभी डिमांड बढ़ी है इसने साइबर एक्‍सपर्ट, एआई और डोमेन एक्‍सपर्ट जैसे लोगों को स्किल-आधारित बोनस का भी वादा किया है। उन्‍होंने "हम निरंतर प्रेशर देख रहे हैं। गोविल ने कहा कि हमारा कैंपस हायरिंग इस तिमाही में 3,000 लोगों का था और यह अधिक बढ़ेगा।

डीएक्ससी टेक्नोलॉजी, माइंडट्री और अन्य जैसी कंपनियां भी उच्च वित्तीय दरों को प्रबंधित करने के लिए इस वित्तीय वर्ष की अगली कुछ तिमाहियों में काम पर रखना चाहती हैं।भारत के डीएक्ससी टेक्नोलॉजी के प्रबंध निदेशक नचिकेत सुखतंकर ने कहा कि इसने पिछले साल 4,500 लोगों में से 7,000 लोगों को कैम्पस से ऑफर दिए थे।हालांकि माइंडट्री कितने लोगों की हायरिंग करेगी इस बात को साझा करने से इनकार कर दिया, लेकिन मुख्य कार्यकारी अधिकारी देबाशीष चटर्जी ने कहा कि कंपनी ने अंतिम क्वार्टर में 1,600 लोगों की भर्ती की है।

English summary
Increase in IT jobs as companies go digital, know where jobs are
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X