• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Covid-19: तीसरी लहर के खतरे के बीच मधुमेह के रोगियों के लिए 10 जरूरी उपाय

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 4 अगस्त। कोरोना महामारी की उथल-पुथल का सबसे बड़ा असर हमारी जीवन शैली पर पड़ा था जिससे हमारा स्वास्थ्य प्रभावित हुआ है। ऐसे में जब अभी भी कोविड संक्रमण का खतरा टला नहीं है बल्कि यह एक बार फिर से बढ़ता जा रहा है। हमें सावधान रहने की जरूरत है। खासतौर पर ऐसे लोगों को जो जीवनशैली के चलते होने वाली बीमारियों से पीड़ित हैं, उन्हें गंभीर जटिलताओं का खतरा अधिक होता है। मधुमेह ऐसी ही एक बीमारी है जिसके पीड़ित व्यक्तियों को कोविड से बचने के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है।

सांस का व्यायाम

सांस का व्यायाम

मधुमेह के रोगियों में ऑक्सीजन का स्तर गिरने लगता है। ऐसे में फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाने के लिए सांस की एक्सरसाइज करनी अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह ऑक्सीजन के स्तर को उचित और स्थिर बनाए रखता है।

गरारे करना
गरारे करने से कीटाणु तो मरते ही हैं यह गले और नाक को भी साफ करता है। इसके साथ ही खाली पेट तेल खींचने से मुंह की गंदगी साफ होती है। गरारे के बारे में सावधानी रखें कि यह ज्यादा न हो। सप्ताह में 3-4 बार पर्याप्त होना चाहिए।

दवा नियमित रखें
मधुमेह रोगियों में ब्लड शुगर स्तर को बढ़ने से रोकने के लिए डॉक्टर दवाएं देते हैं। अगर ऐसी दवाएं चल रही हैं तो उन्हें नियमित तौर पर लेते रहना चाहिए। हाई ब्लड शुगर होने वाले रोगियों में कोविड संक्रमण गंभीर खतरा बन सकता है।

लो कॉर्ब डाइट

लो कॉर्ब डाइट

मधुमेह के रोगियों के लिए खानपान का उचित ध्यान सबसे जरूरी चीज होती है। ब्लड में शुगर को कम करने और एनर्जी को बनाए रखने के लिए लो कॉर्ब और उच्च वसा वाले भोजन को अपनी डाइट में शामिल करें। प्रोटीन का ज्यादा होना ठीक नहीं है इसलिए अपनी डाइट में इसे कम रखें। एक बार से दूसरी बार के खाने के बीच लंबा गैप रखें। इससे शरीर में ग्लूकोज के स्तर और मधुमेह को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है।

ताजी सब्जियां और फल का सेवन
मधुमेह के रोगियों के लिए शरीर में जरूरी विटामिन और खनिजों की पूर्ति का सुनिश्चित होना महत्वपूर्ण है। इसके लिए विभिन्न प्रकार के ताजे फल और सब्जियों का सेवन करें। फलों में सेब, तरबूज, अंगूर, अनानास, पपीता, केला के साथ ही हरी पत्तेदार सब्जियां, टमाटर, प्याज, लहसुन और सभी क्रूस वाली सब्जियां (गोभी, ब्रोकली आदि) आहार में शामिल करें।

सप्लीमेंट
अपने डॉक्टर की सलाह पर शरीर में इम्यून को बढ़ाने के लिए डाइट में विटामिन-सी, डी और ए को शामिल कर सकते हैं। इसे बहुत लंबे समय तक न चलाएं और अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

ऑक्सीजन लेवल चेक करें
बारिश के मौसम में हमें फ्लू और दूसरी बीमारियों का भी खतरा रहता है। ऐसे में हम कई बार समझ नहीं पाते कि यह कोविड है या सामान्य बुखार। इसे जांचने के लिए रक्त में ऑक्सीजन स्तर को चेक करना महत्वपूर्ण है। ऑक्सीमीटर घर में रखें और दिन में दो बार इससे चेक करें। अगर ऑक्सीजन का स्तर 95 प्रतिशत से कम है तो यह कोविड संक्रमण का संकेत हो सकता है।

लक्षणों पर रखें नजर

लक्षणों पर रखें नजर

हल्का बुखार, गले में खराश, थकान आना और सांस लेने में परेशानी होना कोविड के प्रारंभिक लक्षण हो सकते हैं। ऐसा होता है तो बिना लापरवाही किए डॉक्टर की सलाह लें।

जीवनशैली को बनाएं बेहतर
मधुमेह को रोगियों के लिए व्यवस्थित जीवनशैली अत्यंत महत्वपूर्ण है। शरीर को हमेशा हाईड्रेट रखें। इसके लिए हर घंटे पानी पीने की कोशिश करें। प्रतिदन 6 से 8 घंटे की व्यवस्थित नींद लें। इसके साथ ही व्यायाम करने और ध्यान के लिए भी समय निकालें। यह रक्त संचरण को अच्छा रखता है।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन
मधुमेह को रोगियों के लिए कोरोना वायरस का खतरा अधिक गंभीर है ऐसे में खुद को वायरस के संपर्क में आने से बचाना महत्वपूर्ण है। इसके लिए बाहर निकलने पर सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड के जारी किए दिशा-निर्देशों का पाल करें। अगर घर में भी किसी की तबीयत ठीक नहीं है तो सुरक्षित रहने के लिए खुद को दूर रखें।

कोरोना वायरस से बच्चों को किस हद तक है खतरा? नई रिसर्च में हुआ खुलासाकोरोना वायरस से बच्चों को किस हद तक है खतरा? नई रिसर्च में हुआ खुलासा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X