कर्मियों के लिए बेहतर होती बी.पी.ओ. कंपनियां

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

BPOइस आ‍धुनिक युग में जैसे-जैसे प्रतिस्पर्धा तथा काम के दबाव के चलते घर और ऑफिस की दूरी सिमटती जा रही है और आधिकाधिक लोगों के लिए उनका ऑफिस उनके घर का ही एक हिस्सा बनता जा रहा है, कंपनियां भी अपने कामगारों को तनावमुक्त तथा तरोताज़ा बनाए रखने के लिए अनूठे प्रयोगों से नहीं हिचक रही हैं.

और यह प्रयोग किसी भी रूप में हो सकते हैं - एक्स बाक्स या प्लेस्टेशन पर कोई गेम, जिम में थोड़ा सा व्यायाम अथवा गर्मागर्म काफी के साथ थोड़ी सी गपशप.

महानगर स्थित बी.पी.ओ. कंपनी वीकस्टमर्स के अधिशासी निदेशक नवीन जोशुआ बताते हैं - 'हमारे कर्मियों के लिए 24 घंटे चलने वाला एक लाउंज है जहां वे खाली समय में आराम कर सकते हैं अथवा टेबिल टेनिस, शतरंज, कैरम अथवा कम्प्यूटर गेम खेल सकते हैं.'

इसके अतिरिक्त कंपनी की ओर से अपने कर्मियों को बैडमिन्टन तथा बास्केटबाल जैसे आउटडोर खेल तथा सप्ताहांत में सैर सपाटा, खेल गतिविधियां, सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा रॉक कॉन्सर्ट आयोजित करने के लिए विशेष अभिरुचि समूहों का भी प्रावधान है.

ज़ान्सा इंडिया के वरिष्ट उपाध्यक्ष (मानव संसाधन) विक्रम कराई कहते हैं 'हम नृत्य स्पर्धा, फैशन शो तथा संगीत स्पर्धा जैसे कई कार्यक्रम आयोजित करवाते हैं ताकि हमारे कर्मी अपनी अभिरु‍चि तथा पसंद की गतिविधि में भाग ले सकें तथा तनावमुक्त होकर प्रोत्साहित महसूस करें.

कराई बताते हैं कि ब्रि‍टेन आधारित सूचना तकनीक तथा आउटसोर्सिंग संस्थान होने के बाद भी उनकी कंपनी में भारतीय कर्मियों के लिए अन्य बी.पी.ओ. कंपनियों की तरह रात में काम करने जैसी आवश्यक शर्तें नहीं हैं तथा अपने कर्मियों को लचीली कार्यावधियों का लाभ देने के साथ ही वे और अधिक आराम देने के लिए छोटे बच्चों के लिए क्रेश तथा डे-केयर जैसी मूलभूत सुविधाएं भी प्रदान करते हैं.

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.