• search

Peanut Wood: सात चक्रों और नौ ग्रहों को बैलेंस करता है 'पीनट वुड'

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्ली। समुद्र के भीतर अनंत गहराई में कई अनजाने रत्नों (पत्थरों) का खजाना छुपा हुआ है। ये रत्न कभी समुद्र की लहरों के साथ तलहटी से बहकर सतह पर आ जाते हैं तो कभी रत्नों की खोज में लगे गोताखोरों के हाथ लग जाते हैं। कई रत्न तो ऐसे हैं जिनके बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी है या जिनके बारे में अभी तक कुछ पता ही नहीं लग पाया है कि ये आखिर हैं क्या। ऐसा ही एक अत्यंत दुर्लभ किंतु चमत्कारिक पत्थर है 'पीनट वुड"। यह चमत्कारिक इसलिए है क्योंकि ग्रहों को बैलेंस करने के साथ इसमें कई तरह के रोगों को समाप्त करने की शक्ति होती है। यह पैसा भी चुंबक की तरह खींचता है।

     पीनट वुड

    पीनट वुड

    अधिकांश लोगों ने यह नाम ही पहली बार सुना होगा। जैसा कि नाम से ही जाहिर है पीनट वुड। मूलत: यह पत्थर नहीं है। दरअसल समुद्र के तल में हजारों लाखों वर्षों तक रासायनिक क्रियाओं के फलस्वरूप लकड़ी के टुकड़े पत्थरों में बदल गए। यह दो रंग का पत्थर होता है। इसका हल्का रंग मूंगफली के दानों जैसा दिखाई देता है और गहरा रंग लकड़ी के समान। इसलिए इसे पीनट वुड नाम दिया गया।

    यह भी पढ़ें:Panchang: भारतीय पंचांग को क्यों कहते है पंचांग?

    इनमें रासायनिक प्रक्रिया चलती रहती है

    इनमें रासायनिक प्रक्रिया चलती रहती है

    इसके निर्माण की प्रक्रिया भी बड़ी विचित्र है। समुद्र में यहां-वहां से बहकर आई लकड़ियों को शैलफिश समुद्र के तल में मौजूद पत्थरों की गुफाओं में ले जाकर जमा कर देती हैं। फिर लाखों वर्षों तक इनमें रासायनिक प्रक्रिया चलती रहती है। जिसके फलस्वरूप से पत्थर बन जाती है। समुद्र में आने वाले भूकंप और ज्वारभाटा के समय ये ऊपर आ जाती हैं और लहरों के साथ बहकर सतह पर आ आती है। इसके चमत्कारिक गुण पता लगने के बाद अब इसे बड़े पैमाने पर मरीन एक्सपर्ट गोताखोरों द्वारा समुद्र तल से निकाला जाने लगा है। यह ज्यादातर ऑस्ट्रेलियन समुद्र में पाया जाता है।

     क्या है लाभ

    क्या है लाभ

    • पीनट वुड के कई ज्योतिषीय प्रभाव देखे गए हैं। बृहस्पति और चंद्र से संबंधित समस्याओं, पीड़ाओं, इन ग्रहों की कमजोरी में इसे पीड़ित व्यक्ति को धारण करवाया जाता है।
    • पीनट वुड मे ग्रहों की डिग्री बैलेंस करने का अद्भुत गुण होता है। यह जन्मकुंडली में मौजूद सभी ग्रहों को बैलेंस करके पीसफुल लाइफ देता है।
    • पीनट वुड में अनेक तरह के मिनरल्स और विटामिंस का खजाना है। इसका उपयोग शारीरिक दुर्बलता दूर करने, रक्त की कमी दूर करने और हड्डियों को मजबूती प्रदान करने के लिए किया जाता है।
    • इसमें कई तरह की हीलिंग प्रॉपर्टी होती है। त्वचा को चमकदार बनाने, त्वचा के दाग-धब्बे दूर करने, अल्जाइमर्स की बीमारी में फायदा पहुंचाता है।
    • यह शरीर के सभी सातों चक्रों को बैलेंस करता है। इससे उन चक्रों से संबंधित रोगों में आराम मिलता है।
    • याददाश्त तेज करने में इसके गुणों का कोई जोड़ नहीं। इसे विद्यार्थियों को अवश्य पहनना चाहिए जो प्रतियोगी परीक्षओं की तैयारियों में जुटे हुए हों।
    • यह भावनात्मक ज्वार को नियंत्रित करता है। यदि आप अत्यंत ही भावुक किस्म के व्यक्ति हैं तो इसे जरूर पहनें। यह आत्मविश्वास बढ़ाता है।
    • आध्यात्मिक उन्न्ति चाहने वालों को पीनट वुड अपने पास जरूर रखना चाहिए।
    • जो लोग पुनर्जन्म में विश्वास रखते हैं, वे इसके जरिए अपनी पास्ट लाइफ की जानकारी हासिल कर सकते हैं।

    यह भी पढ़ें : Karwa Chauth 2018 Date: कब है करवा चौथ, जानिए पूजा का समय, मुहूर्त एवं विधि

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Peanut wood is a variety of petrified wood that is usually dark brown to black in color. It is recognized by its white-to-cream-color markings that are ovoid in shape and about the size of a peanut.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more