• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जानिए... किन ग्रह परिस्थितियों में व्यक्ति छोड़ता है नौकरी

By Pt. Gajendra Sharma
|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। अमेरिका की एक निजी मार्केट रिसर्च कंपनी ने हाल ही में युवाओं में तेजी से जॉब छोड़ने या बदलने की प्रवृत्ति पर एक सर्वे रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 75 प्रतिशत युवा प्रोफेशनल्स कंपनी के टारगेट पूरे नहीं कर पाने और कंपनी की आंतरिक पॉलिसी से परेशान होकर जॉब छोड़ रहे हैं। युवाओं के तेजी से जॉब छोड़ने की इस प्रवृत्ति के पीछे अनेक कारण हो सकते हैं, लेकिन यह प्रवृत्ति कंपनियों पर भारी पड़ रही है।

नौकरी छोड़ने की इस प्रवृत्ति को ज्योतिष की दृष्टि से देखा जाए तो कुछ विशेष ग्रह स्थितियां सामने आती हैं जो बताती है कि आखिर युवा किन हालातों में जॉब छोड़ रहे हैं। आइए समझने का प्रयत्न करते हैं।

ऐसे लोगों को मिलती है नौकरी में तरक्की

ऐसे लोगों को मिलती है नौकरी में तरक्की

  • सबसे पहले हम बात करते हैं ग्रह की। नौकरी से संबंधित ग्रह हैं सूर्य और बृहस्पति। जिस जातक की कुंडली में बृहस्पति और सूर्य शुभ स्थिति में स्वग्रही या उच्च के होते हैं उनका जॉब स्थायी होता है। वे अपना काम बहुत संभलकर करते हैं और नौकरी में लगातार तरक्की हासिल करते जाते हैं।
  • कुंडली का दशम स्थान कर्म स्थान कहलाता है। यहां से आजीविका के साधनों का पता लगाया जाता है। यदि दशम स्थान में सूर्य या बृहस्पति है तो व्यक्ति अपनी कड़ी मेहनत के दम पर जॉब में उच्च पदों तक पहुंचता है। यदि दशम में सूर्य है तो व्यक्ति को नौकरी तो बड़ी-बड़ी हासिल होती है लेकिन वह अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं करता है और इसी कारण कई बार उसे जॉब छोड़ना पड़ सकता है।

यह पढ़ें:Feng Shui Tips: इन टिप्स के जरिए सुधारिए अपनी Bedroom Life कोयह पढ़ें:Feng Shui Tips: इन टिप्स के जरिए सुधारिए अपनी Bedroom Life को

दशम स्थान पर राहू या केतु की दृष्टि हो तो....

दशम स्थान पर राहू या केतु की दृष्टि हो तो....

  • दशम स्थान पर राहू या केतु की दृष्टि हो और दशम स्थान का स्वामी (दशमेश) अशुभ ग्रहों से दृष्ट हो तो व्यक्ति के जीवन में नौकरी कभी स्थायी नहीं रहती है। वह कई बार कई तरह के जॉब करता है। इस कारण उसकी कोई क्रेडिबिलिटी भी नहीं बन पाती और वह सामान्य नौकरियां ही करता रह जाता है।
  • केंद्र स्थान यानी प्रथम, चतुर्थ, सप्तम, दशम में कोई शुभ ग्रह ना हो दशमेश के साथ राहु-शनि संबंध बन रहा हो तो व्यक्ति अपने बॉस से झगड़ा करके जॉब छोड़ता है।
सूर्य के साथ राहु किसी भी स्थान में बैठा हो तो ...

सूर्य के साथ राहु किसी भी स्थान में बैठा हो तो ...

  • यदि सूर्य के साथ राहु किसी भी स्थान में बैठा हो तो आय स्थान यानी एकादश भाव में कोई शुभ ग्रह ना हो तो व्यक्ति को नौकरी ने निकाल दिया जाता है।
  • लग्न स्थान में सूर्य सिंह राशि का हो तो जातक स्वाभिमानी होता है और अपने सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं करता। ऐसे में जातक को कई बार तनावग्रस्त होकर जॉब छोड़ना पड़ सकता है, लेकिन यह इस मामले में किस्मत का धनी होता है कि इसे तुरंत दूसरा जॉब मिल जाता है।

यह पढ़ें: Palmistry: गहरे राज का सूचक है एक के अंदर एक तीन त्रिभुजयह पढ़ें: Palmistry: गहरे राज का सूचक है एक के अंदर एक तीन त्रिभुज

English summary
If a person horoscope have strong 4th house but weak 10th house then the person may not able to materialize his dream though he/she is highly qualified.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X