Religion: जानिए हिंदू पूजा के लिए कपूर क्यों इतना जरूरी है?

By: पं. अनुज के शुक्ल
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। कपूर सर्व धर्म में मान्य सहज सुलभ होने वाला पदार्थ है, यह मादकता व विष कारक होने के साथ-साथ अति पावन, सुगंधित, शीतलता वाला, प्रदूषण नाशक एवं अमृत तुल्य गुणों की खान है। ऐसी मान्यता है कि स्वाति नक्षत्र में जल की बॅूद केले के वृक्ष पर पड़े ंतो कपूर की उत्पत्ति होती है। सर्प के मुख में में गिरे तो विष व सीप के मुख में गिरे तो मोती बनता है। औषधि प्रयोग के साथ-साथ तान्त्रिक व पूजन माॅगलिक कार्यो में यह लाभकारी माना जाता है।आकर्षण के प्रयोगों के अन्तर्गत किसी मृतात्मा को बुलाने के लिए कपूर का धुॅआ और कपूर की दीप का प्रकाश विशेष प्रभावी होता है। प्रेतात्मा ग्रस्त व्यक्ति को कपूर नहीं देना चाहिए वरना उसका कष्ट बढ़ जाता है।

 Religion: जानिए हिंदू पूजा के लिए कपूर क्यों इतना जरूरी है?
  • डर चिन्ता व नींद न आना-मंगलवार की रात्रि सोते समय हनुमान चालीसा का पाठ कर कमरे में कपूर की ज्योति जलाने से भय, चिन्ता व नींद न आने जैसी समस्यायें दूर हो जाती है। यह उपाय 7 मंगलवार लगातार करना है।
  • डूबा हुआ धन प्राप्त करना-कपूर को जलाकर काजल बना लें। इस काजल से भोजपत्र पर शुक्रवार को उस व्यक्ति का नाम लिखें, जिसको धन दिया था। फिर सात बार हाथ की थपकी देकर कहे कि मेरा पैसा शीघ्र वापस दें। उस भोजपत्र को भारी पत्थर के नीचे दबा दें। श्रद्धा पूर्वक करने पर आपका धन वापस आ जायेगा।
  • सात्विक साधना में प्रयोग-सभी सात्विक साधना में कपूर के प्रभाव से शीघ्र सिद्धि प्राप्त होती है। तांत्रिक साम्रगी सिद्ध होने हेतु जैसे-श्रीफल, गोमती चक्र, हथाजोड़ी, शंख, एकाक्षी नारियल आदि इन सभी की पूजा कपूर के बिना अधूरी है।
  • दाम्प्त्य कलह निवारण हेतु-रात को सोते समय पति सिरहने सिंदूर व पत्नी कपूर रखें। प्रातःकाल पत्नी कपूर जला दें व पति सिंदूर को कहीं घर में गिरा दें।
  • मानसिक तनाव दूर करने हेतु-अपने शयन कक्ष में रात्रि सोने से पूर्व अपने सिरहाने कपूर का एक टुकड़ा नित्य जलाने से से धीरे-धीरे मानसिक तनाव दूर हो जाता है।
  • व्यापार वृद्धि के लिए-कपूर व रोली को मिलाकर अपने व्यापार स्थल पर जलाने से व्यवसाय में प्रगति होती है।
  • अनिच्छा से कार्य करते हो-यदि आप कोई भी कार्य मजूबरी में कर रहें है तो 2 लौंग, 1 कपूर की टिकिया, गायत्री मन्त्र से तीन बार अभिमंत्रित करके पूर्व की ओर मुख करके जलायें तथा थोड़ी सी भस्म को अपनी जीभ पर रखें।
  • घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर करने के लिए-प्रतिदिन सुबह व शाम को कपूर की आरती करें एंव वह आरती पूरे घर में चारो तरफ घुमाने से घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है।
  • Read Also:हेल्थ-वेल्थ और लव चाहिए तो अपनाइए काली मिर्च के टोटके..
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Camphor or Karpooram is a part of every aarti, puja , house warming or Agnihotra . The flame of Camphor is Lord Shiva’s flame of consciousness. It burn without residue.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.