कहीं 'वर का पानी' तो कहीं 'मां का गुस्सा', जानिए शादी से जुड़ी कुछ अजब-गजब प्रथाओं को

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत विभन्नताओं का देश है, कहा जाता है कि हर सौ मीटर पर यहां बोली और रिवाज बदल जाते हैं। इतना अलग होते हुए भी यह देश प्यार और एकता के सूत्र में बंधा हुआ है। आपको पता है कि अलग-अलग जाति और धर्म को मानने वाले इस देश में शादी को लेकर भी बड़ी अजीब-अजीब और अलग-अलग परंपरायें हैं, जिन्हें सुनने और करने में इंसान को काफी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है, लेकिन अगर आप उसकी तह तक जाएंगे तो पाएंगे कि इन परंपराओं में प्रेम और एकता का संदेश है, चलिए जानते हैं ऐसी ही कुछ अजब-गजब परंपराओं पर एक नजर...।

  • सांप वाली टोकरी: एमपी के कुछ आदिवासी परिवारों में शादी से पहले लड़के वाले लड़की के घर पर सांप वाली पेटी पहुंचाते है और लड़की वाले उस पेटी को जंगल में छोड़ आते हैं, ऐसा करने के पीछे माना जाता है कि लड़की को अपनाने वाले लड़के अपने घर से हर जहर को निकाल देते हैं,ताकि लड़की का जीवन खुशहाल रहे।
  • लड़के का लड़की के पैर का नाखून छूना: पहाड़ी इलाकों में रिवाज है कि लड़का, लड़की के पैर का नाखून छूकर कसम खाता है कि वो उसके नाखून तक की रक्षा करेगा।
  • बिस्तर के नीचे चाकू रखना: शादी के बाद पहली रात में जब लड़के-लड़की मिलते हैं तो उनके तकिये के नीचे चाकू रखा जाता है ताकि दोनों का रिश्ता नजर लगने से बचे।
 'वर का पानी'

'वर का पानी'

हिंदू शादियों में कई जगह शादी होने से पहले दुल्हन को 'वर का पानी' यानी कि दूल्हे का नहाया हुआ पानी भेजा जाता है ताकि दुल्हन उस पानी से नहा सके और जीवन भर दूल्हे के ऊपर आने वाली हर मुसीबत को खुद पहले झेलने के लिए तैयार रहे।

बारात जाने से पहले मां का गुस्सा

बारात जाने से पहले मां का गुस्सा

हिंदू शादियों में कहीं-कहीं पर बारात जाने से पहले लड़के की मां लड़के से नाराज होकर बारात ले जाने रोकती है और कहती है कि वो कुएं में कूद जायेगी, वो तब तक गुस्सा रहती है जब तक उसका बेटा उससे वादा नहीं कर लेता कि पत्नी के आने के बाद भी वो उसका पूरा ख्याल रखेगा। फिलहाल यह परंपरा है जो वक्त के साथ नये रूप में चल रही है क्योंकि अब कुआं तो हर जगह मिलता नहीं है इसलिए लड़के की मां अब बाल्टी के पानी और कटोरे में पानी का प्रयोग कर लेती है।

जूठी सुपाड़ी

जूठी सुपाड़ी

  • झाड़ू देना: कुछ जगहों पर लड़की की शादी के बक्से के साथ झाडू रखने का रिवाज है, ताकि लक्ष्मी उसके साथ हमेशा रहें।
  • जूठी सुपाड़ी: हिंदू शादियों में कुछ जगह दूल्हे को दुल्हन की जूठी उस सुपाड़ी को खाने को दिया जाता है जो कि वो सुबह से मुंह पर रखी होती है, ताकि जूठा खाने से प्यार बढ़े।
कंगन (रक्षा धागा) बांधना

कंगन (रक्षा धागा) बांधना

कुछ जगह मंडप में लड़के-लड़की को रक्षा धागा बांधा जाता है ताकि दोनों को नजर ना लगे लेकिन जब तक धागा दोनों के हाथ में होता है तब तक दोनों एक-दूसरे का चेहरा भी नहीं देख सकते।

दूध-तेल से मालिश

दूध-तेल से मालिश

बंगाल के कुछ इलाकों में दुल्हन को दूध से और दूल्हे को तेल की मालिश दी जाती है ताकि शादी के बाद दुल्हन अपने वैवाहिक जीवन में दूध जैसी पौष्टिकता और ताजगी लाए और दूल्हा अपने रिश्ते में विश्वास लाए।

थालियों की परंपरा

थालियों की परंपरा

  • सास मारती है: मध्य भारत में कहीं-कहीं सास, बहू को छड़ी से मारती है यह देखने के लिए कि बहू के अंदर कितना धैर्य है?
  • थालियों की परंपरा: बिहार में कुछ जगहों की शादियों में जब दुल्हन घर आती है तो उसके सामने पीतल की थालियां रख दी जाती हैं और यह थालियां पारिवारिक सदस्यों के नाम की होती हैं, दुल्हन से कहा जाता है कि वो इन्हें बिना आवाज किये उठाये अगर गलती से किसी के नाम की थाली में आवाज आ जाती है तो कहा जाता है कि भविष्य में उस व्यक्ति से दुल्हन का टकराव होगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Wedding may be a universal celebration, but for some it’s an unbelievable crazy adventure. In India, Some Interesting and Different wedding traditions and customs. Have a Look.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.