भगोड़े माल्या का दावा- देश छोड़ने से पहले जेटली से मिला, सेटलमेंट का दिया था ऑफर


लंदन। भारत के अलग-अलग बैंकों से करोड़ों रुपये लेकर फरार हुए शराब व्यापारी विजय माल्या बुधवार को लंदन कोर्ट में सुनवाई के लिए पहुंचे। माल्या ने कोर्ट के बाहर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि उसने भारत छोड़ने से पहले वित्तमंत्री अरुण जेटली से मुलाकात कर सेटलमेंट की बात कही थी। इससे पहले माल्या ने कहा कोर्ट में पहुंचने से पहले कहा था कि उसने मामले के पूरी तरीके से सेटलमेंट के लिए कर्नाटक कोर्ट में अपील की है और वह सभी का हिसाब चुकता कर देगा। बता दें कि कोर्ट 10 दिसंबर को माल्या के मामले में फैसला सुनाएगी। 

वित्तमंत्री से की थी सेटलमेंट की बात

विजय माल्या ने कहा कि उसने भारत छोड़ने से पहले वित्तमंत्री से मुलाकात सेटलमेंट की बात चर्चा की थी। विजय माल्या बुधवार को लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में अपने प्रत्यर्पण के मामले की सुनवाई के लिए पेश हुआ था। माल्या ने कहा, 'मैं छोड़ा क्योंकि जेनेवा मैं मेरी पहली से ही मीटिंग शेड्यूल थी। छोड़ने (देश) मैं वित्त मंत्री से मिला था।' माल्या ने कहा कि बैंकों के सेटलेमेंट की पेशकश भी की थी।

कोर्ट में आर्थर रोड़ जेल का वीडियो किया गया पेश


किंगफिशर एयरलाइन के 62 वर्षीय प्रमुख पिछले साल अप्रैल में जारी प्रत्यर्पण वारंट के बाद से जमानत पर है। उन पर भारत में करीब 9000 करोड़ रूपये के धोखाधड़ी का आरोप है। आज वेस्टमिंस्टर कोर्ट में सुनवाई के दौरान भारत के अधिकारियों ने मुंबई की आर्थर रोड जेल का विडियो पेश किया गया, जहां माल्या को रखे जाने का योजना है। इससे पहले माल्या ने कहा था कि भारत की जेल रहने लायक नहीं है, इसलिए कोर्ट ने मुंबई आर्थर रोड़ का वीडियो पेश करने के लिए कहा था। बता दें पिछली सुनवाई में भारतीय अधिकारियों ने आर्थर रोड़ जेल की तस्वीरे उपलब्ध करवाई थी।

मुझे बलि का बकरा बनाया गया

माल्या ने कहा कि भारत के बैंको ने उसे बलि का बकरा बनाया है। विजय माल्या ने कोर्ट के बाहर मीडिया को बताया कि मुझे दोनों बड़ी पार्टियों ने राजनीतिक फुटबॉल बना दिया।

Read more about:
Have a great day!
Read more...

English Summary

I met the Finance Minister before I left, says Vijay Mallya