कमला मिल्स हादसा: कमेटी ने कोर्ट को सौंपी रिपोर्ट, रेस्टोरेंट मालिकों और BMC के अधिकारियों पर लगाए गंभीर आरोप


मुंबई। कमला मिल्स परिसर में लगी आग मामले में दो पूर्व जजों की जांच कमेटी ने बुधवार को अदालत में अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। कमेटी की रिपोर्ट पर बात करते हुए वकील सुजय कांटावाला ने कहा कि, मोजोस बिस्त्रो और एबव रेस्टोरेंट के मालिकों और कमला मिल्स के मालिकों ने नियमों का उल्लंघन किया। इसके अलावा रिपोर्ट में बीएमसी और कई विभागों के अधिकारियों की इस हादसे में मिली-भगत की बात की गई है।

वकील सुजय कांटावाला ने कहा कि, अब सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। आर्किटेक्ट और इंटीरियर डिजाइनरों समेत सभी के खिलाफ अभियोजन पक्ष को कार्रवाई शुरू करनी चाहिए। अधिकारियों ने मौके पर जाकर निरीक्षण नहीं किया था, सारी कार्रवाई को कागजों पर भी किया गया। यह भ्रष्टाचार का एक स्पष्ट मामला है।

उन्होंने कहा कि, रेस्टोरेंट के मालिक नियम उल्लंघन के दोषी हैं। वकील सुजय कांटावाला ने कहा कि, आपात स्थिति के लिए बनाई गई सीढ़ियों को केरोसिन और शराब जैसी ज्वलनशील सामग्री के ढेर से अवरुद्ध कर दिया गया था। छत का इस्तेमाल धूम्रपान के लिए और हुक्का बार जैसी सेवा के लिए इस्तेमाल किया जा रहा था। इसके लिए कोई भी सुरक्षा इंतजाम नहीं किया था।

इस रिपोर्ट में कई बातों को बताया गया है जिसमें भ्रष्टाचार सहित, महज लाभ के लिए कई बातों की अनदेखी करना और अधिकारी सहित बिल्डर के जरिए अपने स्वार्थ चलते खामियों को अनदेखी करने की बात कही गई है। रिपोर्ट के मुताबिक कमला मिल के मालिक के जरिए 3 एनओसी नहीं लिए गए थे, यह सारे एनओसी फायर ब्रिगेड से लेने थे। एक्साइज विभाग के तीन अधिकारियों के नाम भी रिपोर्ट में जाहिर किया गया है जिन्होनें इस मामले में लापरवाही बरती है।

बता दें कि, कमला मिल्स परिसर में पिछले साल 29 दिसंबर को लगी भीषण आग में 17 लोगों की मौत हो गई थी। इस आग ने 'मोजोस बिस्त्रो' और एबव' पब को अपनी चपेट में ले लिया था।

विजय माल्या का दावा झूठा, उससे नहीं हुई कोई मुलाकात: अरुण जेटली

Read more about: मुंबई
Have a great day!
Read more...

English Summary

Kamala Mills fire: Judicial panel recommends action against Mojo's Bistro and 1Above owners