कांग्रेस तो बीते 18 महीने से कह रही, विजय माल्या को सरकार ने भगाया: सिंघवी


नई दिल्ली। विजय माल्या के देश छोड़ने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात और कर्ज को लेकर सैटलमेंट की बात कहे जाने के बाद कांग्रेस ने सरकार पर तीखा हमला बोला है। अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि कांग्रेस की बात ठीक साबित हुई है। उन्होंने कहा कि बीते 18 महीने से कांग्रेस लगातार कह रही है कि ना सिर्फ विजय माल्या बल्कि नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और कई दूसरे लोगों को मदद कर भगाया गया है। 

रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा है, 'भगौड़ो का साथ, लुटेरों का विकास भाजपा का एकमात्र लक्ष्य है। मोदी जी, छोटा मोदी #1,छोटा मोदी #2,'हमारे मेहुल भाई,अमित भटनागर जैसों को देश के करोड़ो लुटवा,विदेश भगा दिया। विजय माल्या, तो श्री अरुण जेटली से मिल,विदाई लेकर,देश का पैसा लेकर भाग गया है? चौकीदार नहीं,भागीदार है!' 

सीपीएम के सीताराम येचुरी ने कहा है कि ये सब तो हम पहले से ही जानते थे कि सरकार उन लोगों को भागने में मदद कर रही है, जिन्होंने जनता के पैसे को लूटा है। सरकार कुछ लोगों को जनता का पैसा लूटकर भागने की छूट दे रही है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सवाल किया है कि वित्तमंत्री अरुण जेटली ने विजय माल्या से मुलाकात की बात को आखिर देश से क्यों छुपाकर रखा। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है कि विजय माल्या ने देश छोड़ने से पहले वित्तमंत्री से मिलने की बात कही है, ये सब चौंकाने वाला है। एक और ट्वीट में केजरीवाल ने सवाल किया है कि नीरव मोदी देश छोड़ने से पहले पीएम से मिलता है और विजय माल्या वित्तमंत्री से। आखिर ये सब क्या हो रहा है, देश जानना चाहता है

बुधवार को लंदन में कोर्ट के बाहर विजय माल्या ने प्रत्यर्पण के मामले में चल रही सुनवाई के दौरान दावा किया है कि देश छोड़ने से पहले वह अरुण जेटली से मिलकर आए थे। माल्या ने कहा, 'मैं मामला निपटाने को लेकर जेटली से मिला था और सैटलमेंट की बात कही थी।

विजय माल्या का दावा झूठा, उससे नहीं हुई कोई मुलाकात: अरुण जेटली

Have a great day!
Read more...

English Summary

Congress on Vijay Mallya claim that he met Arun Jaitley before he left