• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कृषि मंत्रालय ने बदली नोटबंदी को किसानों के लिए नुकसानदेह बताने वाली रिपोर्ट, अब बताया फायदेमंद

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। नोटबंदी के चलते किसानों पर बुरे असर की बात कहने वाली अपनी रिपोर्ट पर कृषि मंत्रालय ने यू-टर्न ले लिया है। मंत्रालय ने इस पर मंगलवार को एक नई रिपोर्ट दाखिल की है, इस रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी किसानों के लिए नुकसानदेह नहीं बहुत फायदेमंद साबित हुई। बीते हफ्ते मंगलवार को केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने आर्थिक मामलों की संसदीय स्थायी समिति को पेश की रिपोर्ट में माना था कि नोटबंदी से किसान बुरी तरह प्रभावित हुए और उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा।

इस रिपोर्ट में नोटबंदी फायदेमंद

इस रिपोर्ट में नोटबंदी फायदेमंद

कमेटी में शामिल भारतीय जानता पार्टी के सदस्यों ने रिपोर्ट को लेकर अपनी नाखुशी जाहिर की थी और कहा था कि ये पूरी तरह से तैयार नहीं थी। अब मंत्रालय इस पर मंगलवार को कमेटी को नई रिपोर्ट पेश कर रहा है। इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, इस रिपोर्ट में कहा गया है कि एग्रीकल्चर सेक्टर को बेहतर करने का काम किया और इससे किसानों का लाभ हुआ।

बुधवार को पाकिस्‍तान खोलेगा करतारपुर कॉरिडोर, सिख तीर्थयात्रियों की सुविधाओं के लिए चलेंगी ट्रेनेंबुधवार को पाकिस्‍तान खोलेगा करतारपुर कॉरिडोर, सिख तीर्थयात्रियों की सुविधाओं के लिए चलेंगी ट्रेनें

रिपोर्ट में माना था नोटबंदी से हुआ भारी नुकसान

रिपोर्ट में माना था नोटबंदी से हुआ भारी नुकसान

20 नवंबर को कृषि मंत्रालय, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय और कुटीर, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय ने कांग्रेस सांसद वीरप्पा मोहली की अध्यक्षता वाली संसद की स्थायी समिति को नोटबंदी पर अपनी रिपोर्ट दी थी। रिपोर्ट में मंत्रालय ने माना कि नोटबंदी के चलते देश के लाखों किसान फसलों के लिए बीज और खाद वगैरह नहीं खरीद पाए थे, जिसकी वजह से उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। रिपोर्ट में कहा है कि सरकार ने जब नोटबंदी लागू किया था, तब किसान या तो अपनी खरीफ की फसल बेच रहे थे या रबी की फसल बो रहे थे। इन दोनों कामों के लिए उन्हें अच्छी-खासी रकम की जरूरत थी, लेकिन नोटबंदी के बाद बाजार से नोट ही गायब हो गए।

कृषि मंत्री ने कर दिया था खारिज

कृषि मंत्री ने कर दिया था खारिज

कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने भी अपने मंत्रालय की रिपोर्ट को खारिज कर दिया था। राधामोहन सिंह ने रिपोर्ट पर कहा था नोटबंदी से खाद-बीज की बिक्री पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। मीडिया में चल रहा है कि कृषि मंत्रालय ने स्वीकार किया है कि नोटबंदी ने किसानों को प्रभावित किया था और नकद की कमी के कारण बीज खरीदने में असमर्थ हुए थे। यह सच से बहुत परे है। अब एक हफ्ते बाद मंत्रालय भी अपनी रिपोर्ट बदल रहा है।

नोटबंदी की रिपोर्ट को कृषि मंत्री ने किया खारिज, कहा- किसानों को नहीं हुआ नुकसाननोटबंदी की रिपोर्ट को कृषि मंत्री ने किया खारिज, कहा- किसानों को नहीं हुआ नुकसान

English summary
Agriculture ministry backtracks on report showing adverse effect of demonetisation on farmers
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X