योगी सरकार मेहरबान, शिक्षा विभाग में तिगुनी की गई सैलरी

Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। शिक्षा विभाग पर सरकार मेहरबान लग रही है। विभाग में मानदेय बढ़ाकर तीन गुना तक कर दिया गया है। इसका लाभ शिक्षा मित्रों और अनुदेशकों को मिल सकेगा। इस फैसले को सरकार की मंजूरी मिल चुकी है। अब प्राथमिक स्कूलों में तैनात शिक्षामित्रों का मासिक मानदेय 3500 रुपए से बढ़ाकर 10 हजार रुपए कर दिया गया है। जबकि उच्च प्राथमिक स्कूलों में तैनात अंशकालिक अनुदेशकों के मानदेय 8,470 से बढ़ाकर 17 हजार रुपए प्रति माह कर दिया गया है।

योगी सरकार मेहरबान, शिक्षा विभाग में तिगुनी की गई सैलरी

समायोजित न होने वालों को लाभ

अभी तक सहायक अध्यापक के पद पर समायोजित नहीं हो सके शिक्षा मित्रों को ही इस नई व्यवस्था का लाभ मिलेगा। इस दायरे में 26,504 शिक्षामित्र आएंगे। अभी तक इन्हें सरकार से मासिक मानदेय के रूप में 3500 रुपए मिल रहे थे। लेकिन अब इनको 10 हजार रुपए बतौर सैलरी मिलेंगे जो अप्रैल महिने से लागू होकर जुड़ जाएगा। गौर करने वाली बात ये है कि इन 10 हजार रुपए मानदेय में से 2300 रुपए कर्मचारी भविष्य निधि खाते (ईपीएफ) में जमा होंगे। जबकि 7700 रुपए शिक्षा मित्र को इनहैंड मिलेंगे।

अनुदेशकों को ईपीएफ में छूट

सरकार के इस बड़े तोहफे में अंशकालिक अनुदेशकों को ईपीएफ से छूट मिलेगी। ये चाहें तो ईपीएफ कटौती करा सकते हैं। इस व्यवस्था से 30,949 अंशकालिक अनुदेशकों को फायदा मिलेगा। एक तरह से देखा जाए तो अनुदेशकों का भी मानदेय दोगुना हुआ है। अंशकालिक अनुदेशकों को अभी तक 8470 रुपए मासिक मानदेय मिलता है। लेकिन अब वो 17 हजार रुपए प्रति माह पा सकेंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Yogi Government increase salary in Education department
Please Wait while comments are loading...