पॉलीथिन में गर्भ को लेकर पहुंची महिला, SP आफिस में मची अफरातफरी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

सुल्तानपुर। एसपी आफिस में शनिवार को उस समय अफरातफरी मच गई जब एक महिला पॉलीथिन में अपने गर्भ को लेकर पहुंची। इस महिला के पड़ोस में रहने वाले दबंगों ने उस पर ऐसा अत्याचार किया कि उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई। महिला न्याय के लिए एसपी आफिस में अपने गर्भ को हाथ में लेकर रोती जा रही थी।

ये है पूरा मामला

ये है पूरा मामला

मामला सुल्तानपुर चांदा थाना क्षेत्र के छापर गोला गांव का है। इ गांव के रहवे वाले सुभाष की पत्नी गीता देवी का आरोप है कि 12 मई को इसका हैण्डपम्प के बगल में गढ्ढा खोदने को लेकर पड़ोसियों से विवाद हो गया। जिसमें पड़ोसी मेवालाल, उसकी पत्नी मीरा एवं विद्या देवी आदि ने उसकी पिटाई। गीता देवी के गर्भ में बच्चा पल रहा था। आरोप है कि इन सभी ने उसके गर्भ पर भी प्रहार किया जिससे उसको गम्भीर चोटें आई और फिर गालियां देकर जान से मारने की धमकी दे गए।

पुलिस ने थाने से भगाया

पुलिस ने थाने से भगाया

घटना के बाद पीड़िता गीता थाने पर पहुंची जहां उसकी एक नहीं सुनी गई। 15 जून को जब फिर से पीड़िता मेडिकल आदि कराने के लिए थाने पर पहुंची तो एसओ चांदा अनिल सोनकर ने उसे फटकार लगाकर थाने से भगा दिया। इस बीच आज पीड़िता का गर्भपात हो उठा। जिसके बाद उसने हुए गर्भ को पॉलीथिन में रखा और परिजनों के साथ इंसाफ के लिए एसपी आफिस पहुंच गई।

क्या कहा एसपी ने?

क्या कहा एसपी ने?

शनिवार को जब पीड़िता गीता देवी एसपी आफिस पहुंची तो यहां अफरातफरी मच गई। उसने जैसे ही पॉलीथिन में रखे गर्भ को बाहर निकाला सभी ने दांतो तले उंगली दबा लिया। वो दर्द से कराह रही थी जिसके बाद उसने एसपी से मुलाकात कर एसओ की शिकायत किया। जहां एसपी ने एसओ को तत्काल मामले में उचित कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
woman goes to sp office with a polythene carrying a fetus
Please Wait while comments are loading...