राजनाथ के बेटे पंकज को मंत्री ना बनाए जाने की ये है असल वजह?

रविवार को योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यूपी की नई सरकार का शपथ ग्रहण हुआ। जिसमें दो डिप्टी सीएम समेत 46 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई। हालांकि पंकज सिंह का नाम नहीं होना चौंकाने वाला रहा।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में नई सरकार ने कार्यभार संभाल लिया है। कई बड़े नेताओं के करीबियों को नए मंत्रीमंडल में जगह मिली है। हालांकि इस मंत्रीमंडल में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को जगह नहीं मिलना चौंकाने वाला रहा।

पंकज सिंह को मंत्रीपद मिलने की थी चर्चा

नई सरकार में पंकज सिंह को भी मंत्री बनाए जाने के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन शपथ ग्रहण के दौरान उनका नाम गायब रहा। पंकज सिंह को मंत्रालय में जगह नहीं मिलने से कई सवाल खड़े हो गए हैं। आखिर ऐसा क्या हुआ जो उनको मंत्री बनाए जाने के नाम पर मुहर नहीं लग सकी?

योगी कैबिनेट ने संभाली यूपी की सत्ता

रविवार को योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यूपी की नई सरकार का शपथ ग्रहण हुआ। जिसमें दो डिप्टी सीएम समेत 46 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई। इतने भारी-भरकम मंत्रीमंडल में कई ऐसे विधायक हैं जो पहली बार विधानसभा चुनाव जीत कर आए और उन्हें नई सरकार में मंत्री बनाया गया।

क्या इस वजह से पंकज सिंह को नहीं मिला मंत्री पद?

नई सरकार में राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को भी मंत्री पद मिलने के कयास लगाए जा रहे थे। हालांकि शपथ ग्रहण के दौरान उनका नाम गायब रहा। कहा जा रहा है कि राजनाथ सिंह, योगी आदित्यनाथ के प्रतिद्वंद्वी कैंप के माने जाते हैं। पंकज सिंह, नोएडा जैसी अहम सीट से एक लाख से ज्यादा मतों से जीत दर्ज करके विधायक बने हैं।

पंकज सिंह को मंत्रीमंडल में शामिल किए जाने की थी चर्चा

पहली बार जीत कर आए श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थ नाथ सिंह को योगी कैबिनेट में जगह दी गई है। श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थ नाथ सिंह केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और अमित शाह के करीबी माने जाते हैं। उनको मंत्री पद दिए जाने के पीछे यही मुख्य वजह मानी जा रही है। वहीं राजनाथ कैंप इस बात के लिए निश्चिंत था कि पंकज सिंह को नई सरकार में जगह मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

पंकज सिंह को मंत्री नहीं बनाए जाने से करीबियों में निराशा

पंकज सिंह को भले ही कैबिनेट में जगह नहीं मिली हो लेकिन बीजेपी के कई और वरिष्ठ नेताओं के करीबियों को जगह मिली है। इनमें बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन के बेटे गोपालजी टंडन और राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के पोते संदीप सिंह का नाम शामिल है। गोपाल जी टंडन को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है, वहीं संदीप सिंह को नई सरकार में राज्य मंत्री बनाया गया है। पंकज सिंह को यूपी कैबिनेट में जगह नहीं मिलने से उनके करीबियों में निराशा है।

इसे भी पढ़ें:- ...तो 7 महीने पहले ही शुरू हो गई थी योगी को यूपी में CM बनाने की तैयारी?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rajnath singh son Pankaj fails to get ministry in UP government.
Please Wait while comments are loading...