मिर्जापुर: विंडमफॉल में अचानक बढ़ा पानी, पिकनिक मना रहे लोग बहे

Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर। उत्तर प्रदेश जिले में पांच दिनों से हो रही रिमझिम बरसात में रविवार को विंडमफॉल व खड़ंजा फॉल में पिकनिक मनाने गए करीब 70 लोग बहने लगे। इनमें से अधिकांश को बचा लिया गया। एक युवक का शव सोमवार की सुबह बरामद हुआ। चार लोग अभी भी लापता हैं। बह रहे लोगों को मौके पर मौजूद दूसरे सैलानियों ने गमछा, रस्सी फेंककर किसी तरह बचा लिया। लापता होने वालों में से एक पड़ोस के जिले भदोही का है जबकि बाकी चार मिर्जापुर जिले के अलग-अलग स्थानों के हैं। देहात कोतवाली पुलिस गोताखोरों की मदद से लापता लोगों की तलाश में जुटी है। एनडीआरएफ की टीम को बुलाने के लिए पत्र लिखा गया है।

Read Also: छुट्टियों का मजा ले रहे छात्रों के लिए सेल्फी बनी मौत की वजह, नाव पलटने से हुआ बड़ा हादसा

रविवार के दिन सैलानियों की भीड़

रविवार के दिन सैलानियों की भीड़

रविवार को अवकाश का दिन था। मौसम भी सुहावना था। सुबह मौसम खुला था और दोपहर में रिमझिम बरसात हुई। इसके बाद लोगों का हुजूम शहर के पास के देहात कोतवाली क्षेत्र के खजुरी नदी पर स्थित खड़ंजा और विंडमफॉल पर पिकनिक मनाने के लिए उमड़ पड़ा। यहां दूरदराज से भी लोग पिकनिक मनाने आये थे। सैलानी फॉल में स्नान कर मस्ती कर रहे थे। इसी दौरान शाम को लगभग पांच बजे विंडमफाल में अचानक पानी बढ़ गया। इससे स्नान कर रहे लोगों में भगदड़ मच गयी। सैलानियों ने फॉल के बीच में फंसे लोगों को किसी तरह बचाकर

बाहर निकाला।

झरने में बह गए चार अभी भी लापता

झरने में बह गए चार अभी भी लापता

भदोही जिले के मेन रोड अजुमौला चौराहा निवासी दो युवक तेज बहाव में बह गए। सूचना पर पहुंची बरकछा चौकी पुलिस 20 वर्षीय नीरज को बचा लिया। उसका साथी 21 वर्षीय मयंक जायसवाल बह गया। पुलिस गोताखोरों की मदद से खोजबीन करने में जुटी है। विंडमफाल का ही पानी आगे जाकर खड़ंजा में पहुंचा तो वहां भी स्नान कर रहे सैलानियों में भगगड़ मच गयी। खड़ंजा में भी सैकड़ों की संख्या में सैलानी मौजूद थे। उन्होंने पानी बढ़ता देख वहां से भागकर किसी तरह से जान बचाई। 60 से 70 लोगों को गमछा, रस्सी पकड़ाकर खींचा गया। इस बीच जो लोग बीच धारा में फंसे थे उन्हें भी दूसरे लोगों ने बचाने की भरसक कोशिश की। चार युवक अभी भी लापता हैं। सोमवार की सुबह कटरा कोतवाली क्षेत्र के अनगढ निवासी 28 वर्षीय प्रमोद मिश्रा का शव खड़ंजा फाल में बरामद हुआ।

15 वर्ष पहले भी विंडमफाल में बह गए थे 20 से अधिक पर्यटक

जिले के पहाड़ी झरनों में बरसात के मौसम में हर साल होने वाले हादसों से भी सैलानी सबक नहीं ले रहे हैं। 15 साल पहले भी विंडमफाल में इसी तरह आयी अचानक बाढ़ में बीस से अधिक लोग बह गए थे। बाद में कइयों के शव बरामद हुए थे। इसी तरह हर साल लखनिया, विंडमफॉल, सिरसी फॉल, खड़ंजा फॉल में दुर्घटनाएं हो रही हैं। बावजूद पर्यटन स्थलों पर पहुंचने वाली लापरवाही बतरने में पीछे नहीं हट रहे। सैलानियों को चाहिए कि वह पहाड़ी झरनों पर पिकनिक मनाने जाएं तो पूरी सावधानी बरतें क्योंकि बरसात के मौसम में यह जरूरी नहीं है कि आप जिस स्थान पर हैं वहां बरसात हो तभी झरनों में पानी बढेगा। दूसरे स्थानों पर बरसात होने से भी झरनों में बाढ़ आने का खतरा बना रहता है।

Read Also: पाक का दावा- 4 भारतीय सैनिक मारे, दो पोस्‍ट तबाह कीं, Video भी जारी किया

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Water level increased in Mirzapur fall, people washed away..
Please Wait while comments are loading...