मीरगंज के गांवो में कहर बरपा रहा है कैंसर

बरेली में कैंसर के मरीजों की बढ़ती संख्या बनी समस्या, मीरगंज के गांवों में बड़ी संख्या में लोग हो रहे हैं कैंसर का शिकार

Subscribe to Oneindia Hindi

मीरगंज। मीरगंज के गाँवो में कैंसर का कहर बनकर टूट रहा है । यहां कैंसर से अबतक 5 सालो में 100 से अधिक लोगों की जान ले चुका है बहरोली में 24 गोरालोकनाथपुर में 17 मीरगंज में 15 औंध में 8 भमौरा में 3 काशीनाथपुर में 4 मौते हो चुकी है अब यह बुजुर्ग असदनगर समेत तमाम गाँवो में कैंसर ने पैर पसारने शुरु कर दिया है ।

cancer

काशीनाथपुर गाँव में कैंसर से 20 दिनो में चार लोगों की जान ले चुका है जबकि चार अन्य मौत की कगार पर खड़े हैं। रामगंगा के खादर के गाँव असदनगर में कैंसर एक साल से कहर मचा रहा हैं । सोमवार को कैंसर पीड़ित 32 वर्षीय गनपत की मौत हो गई ।गनपत को लीवर में कैंसर था । परिजन ने उसका इलाज बरेली लखनऊ और दिल्ली में कराया था दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल में चिकित्सकों ने आपरेशन थियेटर में ले जाकर आपरेशन की तैयारी कर ली लेकिन उसकी हालत देखकर डाक्टरों ने अंतिम समय में जवाब दे दिया, तभी से वह घर में बिस्तर पर पड़ा था। मृतक की पत्नी चंद्रकली ने बताया पति के इलाज मे सारा पैसा खर्च हो गया । पैसा न होने से बच्चे प्रीति आरती रोहित और विष्णु की पढाई छूट गई

चारपाई पर लेटा रामप्रकाश, कैंसर से आवाज हुई बंद रामप्रकाश
रामप्रकाश मीरगंज तहसील के सामने फड़ पर लोगो की हजाहत बनाता था 40 वर्षीय रामप्रकाश दो साल पहले बीमार हुआ । पत्नी धनवती ने इलाज कराया तो पता चला उसके गले में कैंसर हैं । रिश्तेदारो की मदद से पत्नी ने लखनऊ और दिल्ली मे पति का इलाज कराया । लेकिन हालात बिगड़ती गई । अब वह घर में छप्पर के नीचे बिस्तर पर पड़े हैं । कुछ वोल नही पा रहे है । घर की सारी जमा पूंजी इलाज में खर्च हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें- हरदोई में आचार सहिता की खुलेआम उड़ रही हैं धजिज्यां

जिंदगी की भीख मांगने पहुंची कलियर शरीफ
गांव की मकसूदन के मुंह में कैंसर हैं परिजनों ने उनका अच्छे अस्पतालों में इलाज कराया । लेकिन कोई फायदा नही हुआ। गत दिनों परिवार वाले उन्हे कलियर शरीफ ले गये हैं परिजन वहां उनकी सलामती की दुआएं कर रहे हैं। असदनगर के मझरा भैरपुरा निवासी 60 वर्षीय वाहिद नबी के पेट में कैंसर हैं गरीब वाहिद नबी अपना इलाज पैसो की बजह से नहीं करा पा रहे है डाक्टरों ने उनके लिए आपरेशन वोला है जब की उनके पास इतनी पूंजी नही है कि वो आपरेशन करा सके। कैंसर से गांव में 20 दिन में चार लोगों की मौत हो चुकी है। एक दर्जन बीमार है जिलाधिकारी को मामले की जानकारी देकर रोगियों के इलाज की व्यवस्था कराने का अनुरोध किया था । गाँव में कैंसर होने के कारणों को तलाश किया जाना चाहिए । बीमार ग्रामीणों का सही इलाज कराया जाना चाहिए ।

मीरगंज सीएचसी के प्रभारी अधीक्षक डाक्टर अमित कुमार का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग दो बार ग्राम पंचायत असदनगर में कैंप लगा चुका हैं । कैंपों में चिकित्सको ने ग्रामीणों का का स्वास्थ्य परीक्षण किया था । किसी में कैंसर की पुष्टि नही हुई हैं एक दो मरीज अस्पताल आये थे । उनको जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था ।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Village of Barailly Mirganj faces acute cancer problem. Many are suffering due to this but treatment is less provided
Please Wait while comments are loading...