वाराणसी में दिखे डुप्लीकेट नरेंद्र मोदी, मिलने के लिए दौड़े लोग, देखिए तस्वीरें

Written by: अश्विनी त्रिपाठी
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। विधानसभा चुनाव के इस समर में बुधवार को पीएम की काशी में लोग उस समय चौक गए, जब उन्होंने अभिनंदन पाठक को घूमते हुए देखा। लोगों ने अभिनंदन को देखते ही उनके पास आ गए, लोगों को लगा कि कहीं पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में चुपके से लोगों का हालचाल तो जानने नहीं आ गए। हुआ कुछ यूं कि अभिनंदन पाठक वाराणसी के सारनाथ में अपने मित्र और मजदूरों के नेता संजय राय से मिलने पहुंचे थे, जिन्होंने पीएम मोदी के नाम पर एक समिति भी बनाई है जो बीते लोकसभा चुनाव में पिछले एक महीने तक काशीवास कर भाजपा का प्रचार भी किया है। ये भी पढ़ें: बिहार और यूपी चुनाव में वो समानताएं, जो कर सकती है बीजेपी को परेशान

मोदी ने अभिनंदन को अपना बताया लक्ष्मण

मोदी ने अभिनंदन को अपना बताया लक्ष्मण

अभिनंदन बताते हैं कि 8 मई 2014 को पहली बार मोदी जी से काशी में मुलाकात हुई और उन्होंने पांच मिनट तक मुझे गले लगाए रखा और कहा कि आप मेरे लक्ष्मण हैं। फिर जब मोदी जी चुनाव जीत गए तो मैंने गुजरात जाकर मां हीराबेन से मुलाकात की। वे मुझे देखकर खूब हंसी और चकित रह गयी। मां ने मुझे आशीर्वाद में 10 रुपया दिये और बोली बेटे नरेंद्र मोदी को आशीर्वाद में 101 रुपया दिए थे। बता दें कि अभिनदंन ने दस का नोट आज भी बड़ी मां के नाम पर रखा हुआ है। इनके बाद उन्होंने यशोदा बेन से भी मुकालात की।

2014 में मोदी जी का प्रचार करना शुरू किया

2014 में मोदी जी का प्रचार करना शुरू किया

वहीं, पीएम मोदी की मां के आदेश पर उन्होंने 2014 में मोदी जी का प्रचार करना शुरू किया। उन्होंने बताया कि कई बार पीएम मोदी विरोधियों ने उन्हें अपमानित भी किया है। कहीं-कहीं तो अभिनंदन ने गुस्से में विरोधियों के कॉलर तक पकड़ लिये हैं। अभिनंदन कहते है कि 'अब मैं फिर से काशी आया हूं और रिपब्लिकन पार्टी का स्टार प्रचारक हूं। बता दें कि ऐसे में बनारस से चार कैंडिडेट इस विधानसभा में चुनाव लड़ेंगे।

ये है इनकी पारिवारिक पृष्ठ भूमि

ये है इनकी पारिवारिक पृष्ठ भूमि

बता दें कि अभिनंदन सहारनपुर से हैं जो अब लखनऊ में रहते हैं। सहारनपुर में इनका 8 वीं कक्षा तक का एक स्कूल भी हैं। पूरे परिवार की जिम्मेदारी इन्होंने अपनी पत्नी को दी हुई है। वहीं, अभिनंदन की तीन बेटी और तीन बेटे हैं। अभिनंदन खुद दो बार पार्षद और एक बार लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। लेकिन अभी तक उन्हें जीत हासिल नहीं हो पाई है। लेकिन अब इन्हें इस बात का सुकून हैं कि ये बीते लोकसभा चुनाव से मोदी का डंका बजाते आ रहे हैं।

लोगों ने देखते ही लगाए मोदी जिंदाबाद के नारे

लोगों ने देखते ही लगाए मोदी जिंदाबाद के नारे

अभिनंदन बुधवार को वाराणसी के सारनाथ के परशुराम पुर गांव में अपने साथी और नेता संजय राय के साथ आगामी चुनाव के लिए प्रचार करने आये थे। जहां बच्चे और बूढों ने इन्हें घेर लिया और सेल्फी भी खिंचवाई। तो वहीं, इनका ऑटोग्राफ भी लिया। ऐसे में निजी सुरक्षा गार्डों ने भीड़ को देखते हुए बहुत मुश्किल से अभिनंदन को संजय राय के घर पहुंचाया जहाां लोगो ने इन्हें देखते ही मोदी जिंदाबाद के नारे भी लगाए। ये भी पढ़ें: यूपी चुनाव: टिकट बंटवारे से खफा बीजेपी और RSS का एक वर्ग, क्या चुनाव में बिगाड़ेंगे खेल?

 
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
varanasi pm narendra modi taken after abhinandan pathak sarnath in uttar pradesh.
Please Wait while comments are loading...