मोदी की काशी पहुंचा स्विट्जरलैंड का अनोखा दूत, इनके इरादों को आप भी करेंगे सलाम

राइडर रॉबिंसन 19 देशों की यात्रा बाइक से करते हुए मोदी की काशी पहुंचे और रोड सेफ्टी के संदेश निराले अंदाज में दिये। रॉबिंसन 2 अगस्त 2014 से विश्व शांति और रोड सेफ्टी की मकसद से निकले हैं।

Written by: अश्विनी त्रिपाठी
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। बाइक राइडिंग की दुनिया का राइडर रॉबिंसन 19 देशों की यात्रा बाइक से करते हुए मोदी की काशी पहुंकर लोगों को रोड सेफ्टी के संदेश अपने निराले अंदाज में दिये। गौरतलब है कि रॉबिंसन 2 अगस्त 2014 से विश्व शांति और रोड सेफ्टी की मकसद से वर्ल्ड टूर पर निकले हैं। वहींं, हर शहरों की नंबर प्लेटों को इकठ्ठा करना भी इनका शौक में शुमार है। पेशे से माली रॉबिंसन शहर की सड़कों पर लोगों को स्टंट न करने की सलाह दी। बता दें कि रॉबिंसन वाराणसी से गोवा के रास्ते दिल्ली और पाकिस्तान से इराक होते हुए इटली तक जायेंगे। ये भी पढ़ें: यूपी पुलिस का कारनामा, मामूली जुर्म कबूल करवाने के लिए दी थर्ड डिग्री

क्या हैं रॉबिंसन का संदेश

रॉबिंसन दुनिया को सड़कों से जुड़े हुए संदेश लेकर निकले हैं। उन्होंने बताया कि वे लोगों को ये सिखाना चाहते हैं कि किसी का एक्सीडेंट हो जाए तो घायल को देख कर न छोड़े बल्कि उसकी मदद करें। ट्रैफिक रूल, सिग्नल फॉलों करे, नशे में ड्राइविंग ना करें और साथ ही देश की सरहदों में प्यार बढ़ाने की कोशिश करें। पेशे के माली रॉबिंसन अभी शादी-शुदा नहीं हैं और शिक्षा में स्नातक तक पढ़ाई हुई है। उन शहरों का नंबर प्लेट इक्क्ठा करना और टूर की यादों को किताबों में संजोना इनका शौक है। रॉबिंसन बताते हैं कि बाइकिंग टूर में उनकी मदद परिवार के लोग करते रहते हैं।

भारत में कैसे मिली मदद

रॉबिंसन भारत आने पर सबसे पहले गुहावटी पहुंचे थे। जहां इनकी मदद इन्डियन राइडर्स की टीम ने की और उन्हें बनारस भेज दिया यहां उनकी मुलाकात अभिशेख डे से हुई जो सोशल मीडिया ग्रुप पॉवर स्ट्रोक राइडर्स ग्रुप के मेंबर हैं। वहीं, रॉबिंसन वाराणसी से निकल कर गोवा के रास्ते दिल्ली फिर पाकिस्तान, इराक के बाद इटली जायेंगे। वाराणसी में भेलूपुर के एसएचओ राजीव सिंह ने रॉबिंसन को आगे की यात्रा के लिए शुभकामनाओं के साथ विदा भी किया।

रॉबिंसन ने कहा काशी जैसा कहीं कुछ भी नहीं

स्विजरलैंड के इस राइडर ने बताया कि उसने 9 देशों को नजदीक से देखा है लेकिन कहीं भी काशी जैसा कुछ भी नहीं है। यहां के लोग हर किसी की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। साथ ही गंगा नदी यहां की आरती देखने लायक है और तो और स्ट्रीट फूड पूरी कचौड़ी उन्हें खूब पसंद आयी है।

रोड सेफ्टी के मकसद से वर्ल्ड टूर पर निकले हैं रॉबिंसन

बता दें कि बाइक राइडिंग की दुनिया के राइडर रॉबिंसन 19 देशों की यात्रा बाइक से करते हुए मोदी की काशी पहुंचे है। जिसका संदेश भी उनके शौक की तरह निराला है। बताया गया कि रॉबिंसन 2 अगस्त 2014 से विश्व शांति और रोड सेफ्टी के मकसद से वर्ल्ड टूर पर निकले हैं। 

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
varanasi bike rider robinson switzerland in uttar pradesh.
Please Wait while comments are loading...