यूपी पुलिस का कारनामा, मामूली जुर्म कबूल करवाने के लिए दी थर्ड डिग्री

Written by: अश्विनी त्रिपाठी
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। यूपी के वाराणसी शहर के दशाश्वमेघ थाने में बीती रात यूपी पुलिस के शर्मनाक वारदात का मामला सामने आया है। गौरतलब है कि यूपी पुलिस ने देर रात गिरफ्त में लिए एक व्यक्ति को थर्ड डिग्री देते हुए पीटा। पुलिस ने इस व्यक्ति के भीतरी अंगो पर बेत मार-मार चमड़ी उधेड़ डाली। आदमी पर चोरी का आरोप बताया जा रहा है। पुलिसवालों ने आदमी को चोरी करने का इल्जाम अपने सिर लेने के लिए मजबूर किया। आरोप है कि स्थानीय दरोगा के साथ पुलिसवाले उसे घर से पूछताछ के लिए लेकर गए थे। ये भी पढे़ं: कानपुर: नशे में लड़की ने सड़क पर काटा बवाल, पुलिस के छूटे पसीने

यूपी पुलिस का कारनामा, मामूली जुर्म कबूल करवाने के लिए दी थर्ड डिग्री

पीड़ित का पुलिस पर क्या है आरोप
पीड़ित राजेश कसेरा ने पुलिस पर ये आरोप लगाया कि मनोज पांडेय, जमुना प्रसाद और स्थानीय चौकी प्रभारी उसे घर से साथ लेकर गए थे और मंगलवार शाम करीब 4 बजे दशाश्वमेघ थाने पर सिपाहियों के साथ मिलकर उसके हाथ-पैर पकड़र उल्टा कर लाठियों से पीटना शुरू कर दिया। साथ ही मारते-मारते नारद घाट पर चोरी हुए जेवर और पैसो का इल्जाम अपने उपर लेने को कहा।

यूपी पुलिस का कारनामा, मामूली जुर्म कबूल करवाने के लिए दी थर्ड डिग्री

क्या कहती है पुलिस
वहीं, इस पूरे प्रकरण के बाद जहां दशश्वमेघ के सर्किल ऑफिसर को जानकारी न होने का हवाला दिया और वहीं, थाने के एसएचओ राहुल शुक्ला का कहना है कि दो लोगों के आपसी विवाद के चलते राजेश को बुलाया गया था। दोनों पक्षो को समझाकर वापस भेज दिया गया था ऐसा कोई मामला ही नहीं है। ये भी पढे़ं: बिहार: 57 साल के शख्स ने ब्लैकमेल कर 2 साल तक युवती से किया गैंगरेप

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
varanasi a man bruitally beaten by the police in up.
Please Wait while comments are loading...