मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार हुआ बंग्लादेशी आतंकवादी, मंदिर-मस्जिदों में हुई तलाशी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुजफ्फरनगर। यूपी के मुजफ्फरनगर से दो दिन पूर्व एक बंग्लादेशी आतंकी के गिरफ्तार होने के बाद पुलिस ने आज धार्मिक स्थलों पर रह लोंगो की तलाशी ली। पुलिस ने सर्च अभियान चलाते हुए मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारों पर चेकिंग करते हुए इन जगहों पर रह लोगों का सत्यापन कराया। पुलिस ने इन लोगों का पहचान पत्र और आधार कार्ड के आधार पर सत्यापन किया और संदिग्ध लोगों की तलाशी ली। बता दें कि IB ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आतंकी गतिविधियों को लेकर अलर्ट जारी किया हुआ है जिसके बाद ATS ने कुटेसरा गांव से एक आंतकी को गिरफ्तार किया था।

कईं सालों से नाम बदलकर भारत में था

कईं सालों से नाम बदलकर भारत में था

पकड़ा गया आतंकी बंग्लादेश के प्रतिबंधित आतंकी ग्रुप अन्सारुल्ला बांग्ला टीम का सक्रिय सदस्य बताया जा रहा है। मूल रूप से बांग्लादेश का रहने वाला यह आतंकी पिछले कई वर्षों से नाम बदलकर सहारनपुर के देवबंद थाना क्षेत्र के गांव अम्बेहटा शेख में रह रहा था और देवबंद में भी कई लोगों के संपर्क में था। प्रराम्भिक पूछताछ में यह बात सामने आई है कि अब्दुल्ला फर्जी निवास प्रमाण पत्र और पासपोर्ट के साथ भारत में रह रहा था | आतंकी गतिविधियों में लिप्त संदिग्धों को भारत में आश्रय दिलाने में मदद करता था और उनके फर्जी दस्तावेज बनवाता था। इसके कब्जे से ग्राम प्रधान, ग्राम विकास अधिकारी तहसीलदार और निर्वाचन अधिकारी की मोहरे भी मिली हैं। इसका दूसरा साथी फैजान हैं। जो इसकी मदद करता था।

किसी को भी नहीं हुआ शक

किसी को भी नहीं हुआ शक

बेहद शातिर अब्दुल्लाह थोड़े-थोड़े समय बाद अपनी लोकेशन बदलता रहता था। पड़ताल में यह बात सामने आई है कि, इसने पिछले एक माह से ही कुटेसरा में रहना शुरु किया था। इसे पहले यह 2011 से देवबंद थाना क्षेत्र के गांव अंबेहटा शेख में रह रहा था और यहीं से इसने फर्जी आईडी बनवाकर पासपोर्ट भी हासिल कर लिया था। कुटेसरा पूर्व ग्राम प्रधान ताज़िम का कहना है की यहां पर उसे आए हुए लगभग 28-30 दिन हुए है। यहां पर उनका रहना सहना बहुत ही साधारण था। ऐसी कोई गतिविधि नज़र नहीं आई। वो अक्सर देवबंद जाया करता था।

नेपाल, बंग्लादेश से आए लोगों का होगा सत्यापन

नेपाल, बंग्लादेश से आए लोगों का होगा सत्यापन

बता दें कि इससे पहले भी मुज़फ्फरनगर जनपद आतंकवादी गतिविधियों को संरक्षण देने पर जाना जाता रहा है। 2001 में भी यहां जैश ए मोहमंद के आतंकी यहां पर पकड़े गए थे। कुछ दिन पूर्व भी संदीप शर्मा नाम का एक आतंकी जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में पकड़ा गया था जो यहीं का रहने वाला था। पुलिस ने बताया कि वो अब उन सभी लोगों का सत्यापन करा रही है जो नेपाल, बंग्लादेश से आकर यहां पर रह रहे है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UP ATS has arrested a bangladeshi terrorist from Muzaffarnagar.
Please Wait while comments are loading...