यूपी चुनाव: जीत के लिए बीजेपी का बड़ा दांव, RSS बैकग्राउंड वाले 5 चुनावी मैनेजरों को मैदान में उतारा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव में जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी बड़े से बड़ा दांव खेलने को तैयार है। इसी तर्ज पर बीजेपी ने पांच ऐसे नेताओं को चुनाव प्रबंधक बनाया है, जो आरएसएस पृष्ठभूमि से हैं। ये सभी नेता 11 फरवरी से शुरू हो रहे यूपी चुनाव को लेकर बीजेपी की ओर से प्रचार करते नजर आएंगे। इन चुनावी प्रबंधकों में चार बिहार से हैं, इनके नाम हैं... बिहार बीजेपी के महासचिव (संगठन) नगेंद्र नाथ, बिहार के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंद किशोर यादव और मंगल पांडे और एमएलसी संजय मयूख।

यूपी के चुनाव प्रबंधकों में बिहार बीजेपी के चार नेता

पांचवें नेता अरविंद मेनन हैं जो मध्य प्रदेश के पूर्व महासचिव (संगठन) पद पर रहे हैं और वर्तमान में बीजेपी के दिल्ली स्थित केंद्रीय संगठन से जुड़े हुए हैं। ये नेता चुनाव की रणनीति बनाने में माहिर माने जाते हैं। वर्तमान में ये कार्यकर्ताओं और उम्मीदवारों के बीच समन्यवय स्थापित करने की कोशिश में जुटे हुए हैं।

चुनाव प्रबंधकों को सौंपी गई अलग-अलग जिम्मेदारी

चुनाव प्रबंधकों को सौंपी गई अलग-अलग जिम्मेदारी

नगेंद्र नाथ की बात करें तो उन्होंने उत्तर प्रदेश बीजेपी के महासचिव (संगठन) के तौर पर सात साल तक काम किया है। साल 2012 के यूपी चुनाव के दौरान टिकट बंटवारे में पक्षपात रवैये का आरोप लगने पर फरवरी 2011 में उन्हें बिहार भेज दिया गया। हालांकि 2012 के विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने नगेंद्र नाथ को यूपी युवा मोर्चा का इंचार्ज बनाया। उन्हें युवाओं को आरएसएस की विचारधारा को पहुंचाने की जिम्मेदारी दी गई। उन्हें एबीवीपी का संगठन सचिव भी बनाया गया। इस चुनाव में नगेंद्र नाथ को गोरखपुर और काशी क्षेत्र में काम करने के लिए कहा गया लेकिन उनकी खराब सेहत की वजह से उन्होंने गोरखपुर में काम करने को प्राथमिकता दी। गोरखपुर में 4 मार्च में मतदान है।

मंगल पांडे बीजेपी के स्टार प्रचारकों में शुमार

मंगल पांडे बीजेपी के स्टार प्रचारकों में शुमार

बिहार बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडे बीजेपी के स्टार चुनाव प्रचारकों की लिस्ट में शामिल हैं। 23 और 27 फरवरी को होने वाले मतदान कार्यक्रम से पहले वो इस विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार करते नजर आएंगे। चुनावी रणनीति को लेकर उन्होंने मोर्चा संभाल लिया है, हाल ही में उन्होंने लखनऊ में पार्टी की रणनीति और प्रचार को लेकर नेताओं के साथ बैठक की। एक रैली भी लखनऊ के मोहनलालगंज (सुरक्षित) सीट पर चुनाव प्रचार किया।

बिहार बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष नंद किशोर यादव को दी गई खास जिम्मेदारी

बिहार बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष नंद किशोर यादव को दी गई खास जिम्मेदारी

बिहार बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष नंद किशोर यादव भी लखनऊ में हैं और बीजेपी के हेडक्वार्टर में चुनावी रणनीति पर नजर गड़ाए हुए हैं। पार्टी के अंदरुनी सूत्रों के मुताबिक वो अवध क्षेत्र में चुनाव तैयारियों को लेकर रणनीति बनाने के लिए बैठक कर रहे हैं। पार्टी के चुनाव प्रचार को लेकर उन्हीं के नेतृत्व में रणनीति बनाई जा रही है।

आरएसएस बैकग्राउंड के नेताओं को दी गई जिम्मेदारी

आरएसएस बैकग्राउंड के नेताओं को दी गई जिम्मेदारी

बीजेपी एमएलसी संजय मयूख की बात करें तो वो भी बीजेपी के पार्टी हेडक्वार्टर में मौजूद हैं। उन्हें मीडिया सेल की गतिविधियों के प्रबंधन का काम सौंपा गया है। संजय मयूख, पिछले 9 साल से बिहार बीजेपी के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता के तौर पर काम कर चुके हैं। उन्होंने 2002 के विधानसभा चुनाव के दौरान गोरखपुर में यूपी बीजेपी के लिए काम किया है। 2007 में ब्रज इलाके में और 2012 में काशी इलाके में उन्होंने मोर्चा संभाल रखा था।

चुनाव प्रबंधकों को दी गई अलग-अलग जिम्मेदारी

चुनाव प्रबंधकों को दी गई अलग-अलग जिम्मेदारी

अरविंद मेनन की बात करें तो उन्हें पिछले साल ही दिल्ली के केंद्रीय संगठन से जोड़ा गया। इससे पहले वो मध्य प्रदेश में बीजेपी महासचिव (संगठन) के पद पर रहे। इस समय उन्हें कानपुर इलाके की जिम्मेदारी दी गई है। सूत्रों के मुताबिक उन्होंने कानपुर-बुंदेलखंड के सभी इलाकों में चुनावी रणनीति के लिए आरएसएस बैकग्राउंड के एक कार्यकर्ता को शामिल किया है।

इसे भी पढ़ें:- मुजफ्फरनगर में अल्पसंख्यक वोटों को फिर अपने पाले में लाने की कवायद करते दिखे अखिलेश

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UP assembly election 2017: BJP brings five election managers all RSS background.
Please Wait while comments are loading...