यूपी चुनाव: बीएसपी से बीजेपी में आए स्वामी प्रसाद मौर्य टिकट बंटवारे से हुए नाराज

सूत्र बता रहे हैं कि स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई ऐसे नेता हैं जो बीजेपी की पहली लिस्ट से नाराज दिख रहे हैं। यही वजह है कि बीजेपी की मंगलवार को होने वाली केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक को टाल दिया गया।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी की पहली लिस्ट आने के साथ ही पार्टी नेताओं में घमासान का दौर शुरू हो गया है। सूत्र बता रहे हैं कि बहुजन समाज पार्टी से भारतीय जनता पार्टी में आए स्वामी प्रसाद मौर्य पार्टी के टिकट बंटवारे नाखुश नजर आ रहे हैं। उनका आरोप है कि पार्टी ने उनके उम्मीदवारों की सूची पर गौर नहीं किया। सूत्र बता रहे हैं कि स्वामी प्रसाद मौर्य अपने परिवार के लिए टिकट की मांग कर रहे थे। उन्होंने बीजेपी आलाकमान को अपने चुनिंदा उम्मीदवारों की लिस्ट सौंपी थी, इस लिस्ट में स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने साथ-साथ परिवार के सदस्यों और समर्थकों के लिए भी टिकट की मांग की थी। हालांकि बीजेपी की पहली लिस्ट में उनकी मांग का असर नजर नहीं आया है।

swami prasad

बीजेपी की लिस्ट से स्वामी प्रसाद मौर्य हुए नाराज

सूत्र बता रहे हैं कि स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई ऐसे नेता हैं जो बीजेपी की पहली लिस्ट से नाराज दिख रहे हैं। यही वजह है कि बीजेपी की मंगलवार को होने वाली केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक को टाल दिया गया। बताया जा रहा है कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने तय किया कि पहले सभी सीटों पर उम्मीदवारों के चयन को लेकर सर्वसम्मति बनाई जाए, उसके बाद ही इनका ऐलान किया जाएगा। हालांकि खबर ये भी है कि पार्टी ने अपने उम्मीदवारों कि लिस्ट फाइनल कर ली है। बीजेपी ने पहले और दूसरे चरण के चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में 149 उम्मीदवारों की पहली सूची फाइनल की और इसे सबके सामने रखा। बताया जा रहा है कि प्रदेश के कई नेता अपने करीबियों टिकट दिलाने की कवायद में जुटे हुए थे, हालांकि पार्टी की पहली लिस्ट में उनका सपना पूरा नहीं हुआ।
इसे भी पढ़ें:- यूपी विधानसभा चुनाव 2017: बीजेपी की पहली सूची में दलबदलुओं का दबदबा

दूसरी ओर टिकट बंटवारे के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ-साथ राजनाथ सिंह, कलराज मिश्र, बीजेपी यूपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और प्रदेश प्रभारी ओम माथुर ने गहन मंत्रणा की। इसके बाद ही पार्टी ने उम्मीदवारों के नाम घोषित किए। सूत्र बता रहे हैं कि पार्टी के कई सांसद और क्षेत्रीय नेता काफी समय से टिकट को लेकर आशान्वित थे, इस बीच पार्टी में दूसरे दलों से पार्टी नेताओं को टिकट बंटवारे में जगह मिलने से उन्हें झटका लगा है। वहीं विरोधी दलों से बीजेपी में आए कई नेताओं को उम्मीद थी कि उनके करीबियों को भी टिकट मिलेगा लेकिन उनकी उम्मीद को झटका लगा है। इसमें बीएसपी के बड़े नेता रहे स्वामी प्रसाद मौर्य का नाम प्रमुख है। फिलहाल पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने सर्वसम्मति बनाने का फॉर्मूला निकाला है जिससे पार्टी से जुड़ा कोई भी नेता नाराज नहीं हो। दूसरी ओर स्वामी प्रसाद मौर्य कैंप का आरोप है कि बीजेपी ने उनसे झूठे वादे किए। मौर्य समर्थकों के मुताबिक पार्टी ने उन्हें अपने साथ जोड़ने के लिए कहा कुछ और था लेकिन जब टिकट बंटवारे का समय आया तो वादों से मुकर गए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
up assembly election 2017: Swami Prasad Maurya unhappy with BJP over distribution of tickets.
Please Wait while comments are loading...