आरक्षण के मुद्दे पर मायावती ने बीजेपी को घेरा, सपा-कांग्रेस पर भी साधा निशाना

मायावती ने आरक्षण का मुद्दा उठाते हुए कहा कि यूपी के मतदाताओं को सतर्क होने की जरूरत है। अपनी बात रखते हुए उन्होंने कहा कि बीएसपी सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय के आधार पर चल रही है।

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे आगे बढ़ रहा है सियासी बयानबाजी तेज होती जा रही है। एक दिन पहले ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक मनमोहन वैद्य के आरक्षण को लेकर दिए बयान पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने पलटवार किया है। मायावती ने आरक्षण का मुद्दा उठाते हुए कहा कि यूपी के मतदाताओं को सतर्क होने की जरूरत है। अपनी बात रखते हुए मायावती ने कहा कि बीएसपी सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय के आधार पर चल रही है।

MAYAWATI

मायावती बोली, कांग्रेस को उम्मीदवार नहीं मिल रहे

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आरक्षण के मुद्दे पर बीजेपी और आरएसएस को घेरते हुए मतदाताओं से कहा कि आरक्षण बचाने के लिए बीएसपी को वोट दें। उन्होंने आरक्षण के मुद्दे पर दलित, पिछड़े वर्ग के लोगों से अपील करते हुए कहा कि बीजेपी-आरएसएस के लोगों को हराएं। मायावती ने कहा कि अगर आरक्षण हटाना है तो इसके लिए कानून बनाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि आरएसएस-बीजेपी दलित और पिछड़े लोगों के अधिकारों नहीं छीन सकती है। बीजेपी का अब कोई दांव नहीं चलेगा, बिहार की तरह बीजेपी की यूपी में भी हार होगी। बता दें संघ विचारक मनमोहन वैद्य ने जयपुर लिट्रेचर फेस्टिवल में डॉ. भीमराव अंबेडकर का हवाला देते हुए कहा था कि वो चाहते थे कि आरक्षण खत्म होना चाहिए। मनमोहन वैद्य के अनुसार आरक्षण से अलगाववाद बढ़ता है। हालांकि विवाद बढ़ने पर मनमोहन वैद्य अपने बयान से पलटते नजर आए, लेकिन उनके इस बयान पर सियासत जरूर गरमा गई है। मनमोहन वैद्य के ही बयान पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने जमकर पलटवार किया।

बसपा सुप्रीमो यहीं नहीं रुकी उन्होंने आगे कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की गलत नीतियों की वजह से जनता पहले ही परेशान है। उन्होंने राज्य की अखिलेश यादव सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि दोनों ही सरकारों के गलत फैसलों का खामियाजा यूपी की जनता को उठाना पड़ रहा है। मायावती ने कांग्रेस पार्टी पर भी निशाना साधा उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की हालत बेहद खराब हो चुकी है। उन्हें चुनाव मैदान में उतारने के लिए उम्मीदवार तक नहीं मिल रहे हैं। इसीलिए उन्होंने गठबंधन की रणनीति निकाली। मायावती ने कहा कि भले ही कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी उत्तर प्रदेश में रथयात्रा निकाले या फिर खाट सभा करें, कोई फायदा नहीं है। उनकी स्थिति यूपी चुनाव में बेहद खराब हो चुकी है। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि मुस्लिम मतदाता समाजवादी पार्टी को अपना वोट देकर इसे खराब नहीं करें। उन्होंने कहा कि मुस्लिम मतदाता अपने वोट बहुजन समाज पार्टी को दें, जिससे बीजेपी को हराया जा सके। मायावती ने कहा कि बीएसपी अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ रही है। पार्टी ने सबसे पहले अपने प्रत्याशी घोषित किये।
इसे भी पढ़ें:- अपने बयान से पलटे मनमोहन वैद्य, बोले- आरक्षण के पक्ष में है संघ

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
up assembly election 2017: BSP Chief Mayawati targets bjp, sp and congress.
Please Wait while comments are loading...