एक बीघे जमीन के लिए दादी को मारा, बचाने आई छोटे भाई की पत्नी भी नहीं बची

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

अमेठी। एक बीघे जमीन के लिए एक बेटे ने पहेल अपनी मां का मार डाला फिर छोटे भाई की पत्नी को मौत की नींद सुला दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों लाशों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। मामला अमेठी के जामो थाना क्षेत्र का है जहां सुकाली मौजा नदियावा गांव में हरिप्रसाद नाम के एक शख्स ने संपत्ति विवाद में ही घर में दो-दो लाशें बिछा दीं।

एक बीघे जमीन के लिए दादी को मारा, बचाने आई छोटे भाई की पत्नी भी नहीं बची

परिवार में करीब 9 बीघे जमीन थी। जिसमें दादी दयाकुमारी और दोनों बेटों के नाम 3-3 बीघे जमीन थी। दयाकुमारी ने अपने हिस्से में से एक बीघे जमीन कुछ दिन पहले पोते रामकुमार की पत्नी अंशू के नाम बैनाममा कर दी थी। इसकी जानकारी जब दयाकुमारी के बेटे रामकुमार और अंशू के जेठ विपिन को हुई तो दोनों ने कई बार पंचायत बुलाकर मामले को उठाने का प्रयास किया लेकिन दोनों की एक न चली।

एक बीघे जमीन के लिए दादी को मारा, बचाने आई छोटे भाई की पत्नी भी नहीं बची

चाचा-भतीजे ने कुल्हाडी से किया वार

पंचायत में मामला बनता न देख हरिप्रसाद ने अपनी दादी को नंदकिशोर के घर बुलाया। गाली गलौज शुरू हुई तब तक विपिन भी वहीं आ गया। देखते ही देखते बात तूल पकड़ गई, दोनों के हाथों में कुल्हाड़ी भी थी जिससे उन्होंने दयाकुमारी पर प्रहार कर दिया। दादी मां को पिटता देख अंशू बचाव में आ गई। खून के प्यासे चाचा-भतीजे ने दोनों महिलाओं को पीटकर लहूलुहान कर दिया। जिसमें दयाकुमारी ने मौके पर दम तोड़ दिया जबकि अस्पताल ले जाते समय रास्ते में अंशू की भी मौत हो गई।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Two murder in a land rage issue of family
Please Wait while comments are loading...